चुनाव से पहले भाजपा में उठे बगावती सुर, देखिये इस सांसद के साथ और कितने नेताओं ने की बगावत

1998

भारतीय जनता पार्टी के सांसद और भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने निकाय चुनावों में संगठन द्वारा अपनी उपेक्षा किए जाने से नाराज होकर बगावत का ऐलान कर दिया है। बृजभूषण शरण सिंह उत्तर-प्रदेश की कैसरगंज संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हैं।

Image result for उत्तर-प्रदेश की कैसरगंज संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम की तर्ज पर ‘गोण्डा की जनता से मन की बात’ कार्यक्रम में सिंह भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि वह नवाबगंज नगर पालिका के लिए पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी का खुलकर विरोध करेंगे, चाहे इसके लिए उन्हें लोकसभा की सदस्यता ही क्यों न गंवानी पड़े।

Image result for उत्तर-प्रदेश की कैसरगंज संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह

बीते विधानसभा चुनाव के बाद से ही पार्टी के स्थानीय संगठन से नाराज चल रहे भाजपा सांसद ने अपने संसदीय कार्यालय परिसर ‘गोनार्द लान’ में शहर की जनता से बात करने के लिए ‘मन की बात’ कार्यक्रम आयोजित किया। समर्थकों से खचाखच भरे पण्डाल में सांसद जब बोलने के लिए खड़े हुए तो बहुत भावुक हो गए।

Image result for भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह

उन्होंने टिकट बंटवारे को लेकर संगठन पर करारा आरोप मढ़ा। सिंह ने कहा कि टिकट बंटवारे को लेकर हमसे (पिता-पुत्र) संगठन ने एक बार चर्चा तक नहीं की। पार्टी नेतृत्व को गुमराह किया गया. ऊपर तक सही बात नहीं पहुंचाई गई। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपने गृह क्षेत्र नवाबगंज में पार्टी का प्रत्याशी उतार दिया है। भले ही उसे पार्टी का चुनाव चिन्ह नहीं मिला है।

Image result for भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह

सांसद ने कहा कि नवाबगंज में पार्टी ने जिसे प्रत्याशी घोषित किया है, वह बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के नेताओं की भी बहुत करीबी रही हैं और उनके समय में भी अध्यक्ष रह चुकी हैं। उनकी सगी देवरानी को समाजवादी पार्टी ने प्रत्याशी घोषित किया है।’’

Image result for भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह

सांसद ने कहा, ‘‘मैंने नवाबगंज में पार्टी के वफादार कार्यकर्ता का नामांकन करवाकर उसे प्रत्याशी बना दिया है। मै और मेरे समर्थक  उसी की मदद करूंगें  और पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी का विरोध करूंगे । चाहे इसका खामियाजा मुझे लोकसभा की सदस्यता गंवाकर ही क्यों न चुकाना पड़े।’’

देखिये विडियो :-


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352