गर्दन की बढ़ी हुई चर्बी को कम करने के आसान घरेलु टिप्स

566

मोटापा एक समस्‍या है और जब यह शुरू होती है तो पूरे शरीर को अपनी गिरफ्त में ले लेती है, इसका सबसे ज्‍यादा असर पेट के साथ-साथ आपके गर्दन पर भी पड़ता है। लेकिन लोग अपने पेट और शरीर के दूसरे अंगों की बढ़ी हुई चर्बी कम करने के प्रयास तो करते हैं। लेकिन गर्दन की चर्बी को कम करने की कोशिश नहीं करते हैं। हम आपको कुछ आसान तरीकों के बारे में बताते हैं जिससे आप गर्दन की चर्बी को आसानी से कम कर सकते हैं।

झुककर बैठने से बचें :-

बैठने का तरीका भी गर्दन पर चर्बी के बढ़ने के लिए जिम्‍मेदार होता है। बहुत ज्‍यादा झुककर बैठने से गर्दन के आस-पास चर्बी बढ़ने लगती है। इसलिए बैठते समय गर्दन ज्‍यादा झुकानी नहीं चाहिए क्‍योंकि इससे मांसपेशियां कमजोर होने लगती है और चर्बी में तबदील हो जाती है। एक्‍सपर्ट के अनुसार, हमें हमेशा गर्दन सीधे करके बैठना चाहिए।

खान-पान में बदलाव :-

गर्दन के आस-पास की बढ़ी चर्बी से चेहरा दिखने में ज्‍यादा भारी लगने लगता है। लेकिन घबराइए नहीं क्‍योंकि अपने खान-पान में सुधार कर आप इस समस्‍या से बच सकते हैं। इसके लिए अपने आहार में खूब सारा बिना चर्बी का मीट, सब्‍जियां, डेयरी, साबुत अनाज, फल आदि नियमित शामिल करें। अपना खाना थोड़ी थोड़ी देर में खाइये।

संतृप्त वसा से दूरी :-

संतृप्‍त वसा शरीर का वजन बढ़ाने का काम करते हैं। और शरीर का वजन बढ़ने से गर्दन के आस-पास भी चर्बी जमा होने लगती है। और तो और संतृप्‍त वसा शरीर को किसी प्रकार का पोषण भी प्रदान नहीं करते हैं। इसलिए इससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए। और इनसे दूरी बनाने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि आप पैकेट वाले आहार और फास्‍ट फूड को ना खायें।

प्रोटीन का सेवन :-

गर्दन की चर्बी से बचने के लिए रेड मीट और बीफ का सेवन न करें क्‍योंकि इनमें भारी मात्रा में चर्बी शामिल होती है। इसकी बजाय चिकन और मछली खाइये क्‍योंकि इनमें काफी प्रोटीन होता है, जो कि मासपेशियां बनाने के लिए बहुत जरूरी होता हैं। अपनी गर्दन की मांसपेशियों को टोन करने के लिए आपको पर्याप्‍त मात्रा में प्रोटीन की जरूरत होती है। इसलिए फैट की जगह पर प्रोटीन खाइये।

स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट लें :-

रिफांइड कार्बोंहाइड्रेट पोषण संबंधी लाभ बहुत कम प्रदान करता है। (हालांकि कार्बोहाइड्रेट अपनी शारीरिक कार्यों के लिए अवश्‍यक होता है) लेकिन होल ग्रेन कार्बोंहाइड्रेट फाइबर से भरपूर होने के कारण स्‍वस्‍थ रूप से वजन कम करने में मदद करता है।

फाइबर पाचन प्रक्रिया को धीमा कर आपको लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराता है और आपके शरीर को पोषक तत्‍वों को अवशोषित करने के लिए लंबा समय प्रदान करता है। पत्‍तेदार सब्जियों में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है।

हाइड्रेटेड रहें :-

शरीर के कार्यों को ठीक प्रकार से करने के लिए पानी बहुत आवश्‍यक होता है। इसके अलावा हाइड्रेटेड त्‍वचा में शिथिलता या ढीलेपन की संभावना बहुत कम होती है। पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीने से आपकी त्‍वचा लचीली बनेगी और वह लटकेगी नहीं।

अगर आप पर्याप्‍त पानी नहीं पीते हैं तो वजन कम करना वास्‍तव में असंभव होता है। साथ ही पानी आपकी भूख को कम करता है। इसलिए नियमित रूप से पर्याप्‍त मात्रा में पानी लें। पानी के साथ बिना शक्‍कर मिला हुआ जूस पियें। लेकिन कॉफी, शराब और सोडा से दूरी बनाकर रखें।

योग को भी अपनायें :-

योग से भी आप गर्दन की चर्बी को कम कर सकते हैं। इसके लिए आप ब्रह्म मुद्रा को करें। योग में इसका स्थान बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। शाम को प्रार्थना करते समय इस मुद्रासन को किया जाता है, क्योंकि इस आसन में गर्दन को चारों दिशा में घुमाया जाता है।

इसे करने के लिए वज्रासन में बैठकर कमर तथा गर्दन को सीधा रखते हुए गर्दन को धीरे-धीरे दाईं ओर ले जाएं। कुछ सेकंड दाईं ओर रुकें, उसके बाद गर्दन को धीरे-धीरे बाईं ओर ले जाएं। फिर वापस आने के बाद गर्दन को ऊपर की ओर ले जाएं। उसके बाद नीचे की तरफ ले जाएं। फिर गर्दन को क्लॉकवाइज और एंटीक्लॉकवाइज घुमाएं।

इस तरह यह एक चक्र पूरा हुआ। अपनी सुविधानुसार इसे योग को 4 से 5 चक्रों में करें। इससे गर्दन की अधिक चर्बी कम होगी और आप सुंदर दिखने लगेगें।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें 

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352