जानिए थकान और शरीर की किसी भी प्रकार की कमजोरी को दूर करने के असरदार व अचूक घरेलू उपाय

720

अक्सर हमने देखा है की लोग बिना परिश्रम करे भी थकान महसूस करते है| बिना किसी कारणवश उन्हें आलस चढ़ा हुआ रहता है, तथा कमजोरी महसूस होती रहती है| यह कमजोरी दिन की शुरुआत से ही महसूस होने लगती है| शरीर में ऊर्जा की कमी के कारण दैनिक कार्य करने भी असमर्थता महसूस होती है|

देखा गया है की जो लोग कमजोर रहते है उन्हें कुछ देर काम करने पर ही थकान और नींद घेर लेती है। कमजोरी आने के कई कारण होते है| जैसे अभी गर्मी के दिन चल रहे है तो बार पसीना ज़्यादा निकलने तथा डिहाइड्रेशन की वजह से भी कमज़ोरी आ जाती है|

कभी-कभी तो लंबे समय तक बीमार रहना और खराब जीवनशैली के कारण भी कमजोरी हो जाती है। पुरुषों के अपेक्षा महिलाओ में यह ज्यादा देखा गया है| महिलाएं घर के अत्यधिक काम के चलते खुद पर ध्यान ही नहीं दे पाती हैं, जिसके परिणाम स्वरुप वो ना चाहते हुए भी शारीरिक कमजोरी का शिकार हो जाती हैं।

कमजोरी के चलते ना केवल थकान बल्कि चिड़चिड़ापन, नींद ठीक से न आना, घबराहट, चक्कर आना आदि कई लक्षण नजर आने लगते हैं| यदि आप कमजोरी महसूस करते है तो घरेलू उपचार इसमें आपकी मदद कर सकते है| आइये जानते है Home Remedies for Weakness.

सम्पूर्ण और पौष्टिक आहार- दूध

जो लोग कमजोर है उन्हें दूध का सेवन जरूर करना चाहिए| स्वास्थ्य विशेषज्ञ दूध को सम्पूर्ण भोजन कहते है| दूध में आपके शरीर के लिए उपयोगी हर प्रकार के विटामिन, मिनरल्स और अन्य डाइटरी सप्लीमेंट्स मौजूद होते है| दूध में मौजूद विटामिन बी,  हड्डियों और मांसपेशियों को स्वस्थ रखता है तथा आपके शरीर को ऊर्जावान बनाए रखता है।

शारीरिक कमजोरी दूर करने के आयुर्वेदिक व घरेलू उपाय

टमाटर का ताज़ा सूप पीने से भूख बढ़ती है, और शरीर में उत्पन्न हुई खून की कमी दूर हो जाती है। इस उपाय से शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है। टमाटर का सूप पीने से मुख-मंडल पर लाली आ जाती है।

प्रति दिन सुबह में मीठे आम खा कर (रस चूस कर) उसके ऊपर सौठ वाला दूध पीने से शरीर मज़बूत होता है। दूध को सौठ और छुहारे डाल कर गरम कर के पीना उत्तम होगा। दूध में आम का रस मिश्रित कर के पीने से वीर्य बढ़ता है, शारीरीक कमजोरी दूर होती है।

रोज़ाना सुबह एक केला दूध के साथ खाने से शरीर को शक्ति मिलती है। दूध और केले को साथ लेने से शरीर में चरबी और शक्ति दोनों बढ़ती है। किसी दुबले व्यक्ति को वज़न बढ़ाने और ताकत पाने के लिए यह आसान उपाय ज़रूर करना चाहिए।

कॉफी का सेवन करने से मानसिक तनाव दूर होता है, और शरीर भी नयी ताज़गी महसूस करता है। भोजन करने के बाद कॉफी पीने से पेट हल्का महसूस करता है। कॉफी पीने से पेट की छोटी मोटी गड़बड़ियाँ भी दूर हो जाती हैं।

दूध पीने से शरीर में शक्ति आती है, नपुंसकता दूर करने के लिए सर्दियों के मौसम मे केसर वाला दूध पीने से पौरुष शक्ति बढ़ती है। और संभोग करने के बाद बादाम वाला दूध पीने से थकान और कमजोरी दूर होती है। (दूध में तीन से चार बादाम पीस कर डालें)।

मांसपेशियों की कमजोरी दूर करने के लिए थोड़ा नमक ले कर उसे ठंडे पानी में मिला लें और फिर उस घोल से पूरे शरीर पर मालिश करें। यह उपाय करने पर शरीर की मांसपेशीयों को आराम मिलेगा।

धातु की दुर्बलता ( sexual weakness / यौन दुर्बलता) दूर करने के लिए पके हुए फालसा खाना लाभदायी होता है। शहद में पोस्तादान पीस कर प्रति दिन उसका सेवन करने पर शरीर की कमजोरी की समस्या दूर होती है।

बीमारी के बाद शरीर में उत्पन्न हुई कमजोरी को दूर करने के लिए नीम की छाल का काढ़ा बना कर पीना लाभदायक होता है। कमजोरी दूर करने के लिए पाढ़ल के फूलों के गुलकंद का सेवन एक उत्तम उपाय है।

देशी खजूर शक्ति वर्धक होता है। खजूर के बीज दूर कर के खजूर में मक्खन भर कर खाने से शरीर शक्तिवान बनता है।

वीर्य (sperm) बढ़ाने के लिए, नया खून शरीर में बढ़ाने के लिए, शरीर को स्फूर्ति दायक बनाने के लिए और कमजोरी मिटाने के लिए नियमित रूप से आठ से दस खजूर रोज़ खाने चाहिए। और खजूर के ऊपर आधा गिलास या एक कप दूध पीना चाहिये।

शारीरीक कमजोरी दूर करने के लिए पीपल के पत्तों का मुरब्बा लाभदायक होता है। अच्छी क्वालिटी के अखरोट की गिरि खाने पर भी शरीर को शक्ति मिलती है।

शरीर में विटामिन और खनिज तत्वों की कमी दूर करने के लिए बागी सलाद के पत्तों का सलाद खाने के साथ खाना चाहिए। प्रति दिन एक गिलास दूध के साथ अलसी के बीज साबुत निगलने से भी शरीर की कमजोरी दूर होती है। यह प्रयोग दिन में दो बार भी किया जा सकता है, पर शुरुआत एक बार से करें।

गाजर का हलवा शक्तिवर्धक होता है। गाजर का रस पीते रहने से शरीर में fat बढ़ता है। दुबले और कमज़ोर व्यक्ति को हर रोज़ गाजर का सेवन करना चाहिए।

हरी मेथी का रोज़ाना सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर होती है। खास कर एक स्त्री जिसे गर्भपात हुआ हों, उसे शरीर में खून की कमी और कमजोरी की समस्या आम होती है, ऐसे समय हरी मेथी का नित्य सेवन शरीर को शक्ति प्रदान करता है और शरीर में खून भी बढ़ाता है।

अनार खून का शुद्धिकरण करता है। शरीर में रक्तसंचार सुव्यवस्थित चलता रखने के लिए भी अनार का सेवन करना चाहिए। मटर के दाने खाने से शरीर में मांस और खून खून की वृद्धि होती है। मूंगफली खाने से भी शरीर में चरबी बढ़ती है और ताकत भी आती है।

नारियेल खाने से भी शरीर मोटा होता है। नारियेल शक्तिवर्धक भी होता है। नारियेल का सेवन करने से बाल भी मज़बूत और घने काले बनते हैं। दिन में एक या दो बार तीस से पचास ग्राम नारियल खाना चाहिये।

रोज़ाना घी खाने से भी वज़न बढ़ता है। चीनी और घी को मिश्रित कर के उसका सेवन करना चाहिए।

गन्ना खाने से पाचन शक्ति बढ़ती है। पेट की गरमी दूर होती है। शरीर को शक्ति मिलती है। तथा शरीर तगड़ा बनता है।

जायफल तथा जावित्री दोनों को दस-दस ग्राम ले कर उसमे अश्वगंधा पचास ग्राम मिला लें। इस मिश्रण को प्रति दिन दो बार एक एक चम्मच दूध के साथ लेने पर शरीर में ताकत आती है और खून भी बढ़ता है।

दो ग्राम विधारा का चूर्ण शक्कर (मिश्री) मिले ताज़े दूध के साथ प्रति दिन दो बार लेने से शरीर की कमजोरी नाश होती है।

कपूर, बास, बादाम और इलायची के दाने, इन सभी वस्तु ओं को पचास-पचास ग्राम भिगो कर छान लें। और फिर पचास ग्राम पिस्ते के साथ इस इन सब को बारीक पीस कर दो लीटर दूध में हल्की आंच पर पका लें। गाढ़ा हलवे जैसा मिक्स तैयार होने पर उसमे बीस ग्राम चाँदी का वर्क मिला लें। इस तैयार किए हुए पदार्थ को प्रति दिन दस से पंद्रह ग्राम सेवन करें। इस उपचार से शरीर रुष्ट-पुष्ट बन जाएगा और नेत्रों की रोशनी भी बढ़ेगी।

काजू के दूध का लेप पैरों की कमजोरी दूर करने के लिए उत्तम उपाय है। काजू के दूध का लेप पैरों पर दिन में दो से तीन बार लगाना चाहिए।

वारहीकन्द का सेवन सर्करा और जीरा के साथ करने से शरीर की कमजोरी दूर होती है।

वायविडंग के साथ अनंतमूल के घोल का सेवन करने से कमजोरी दूर होती है। यह प्रयोग दिन में दो बार करना चाहिए। एक बार में बीस से पच्चीस ग्राम तैयार किया हुआ मिश्रण ग्रहण करना चाहिए।

यौन शक्ति बढाने और शरीर की कमजोरी दूर करने के लिए मखाने की खीर का सेवन प्रति दिन करना लाभदायी होता है।

घी या शहद के साथ गुग्गुल का सेवन करने से शरीर शक्तिवान बनता है। पाँच से दस ग्राम ऊटकटारा की जड़ का रस प्रति दिन दो बार शहद के साथ लेने से शरीर की कमजोरी खत्म हो जाती है। और शरीर ऊर्जावान बनता है।

मुनक्का शक्तिवर्धक होता है। दिन में दो बार मुनकके का सेवन करने से कमजोरी दूर होती है। विटामिन ई से भरपूर पोदीना शरीर को सुस्त और कमज़ोर होने से रोकता है।और पोदीना शरीर की नसों को ताकत देता है।

शहद के साथ लाल चीता दिन में दो बार लेने से शरीर की कमजोरी दूर होती है। इस प्रयोग से शरीर ऊर्जावान और फुरतीला बनता है। (लाल चीता की मात्रा दो ग्राम रखें)।

दूध, सर्करा और मुई छत्ता इन तीनों को उबाल कर थोड़ा ठंडा होने पर उसका सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है।

सफ़ेद पेठे के बीज के अंदरूनी हिस्से को पीस कर उस आटे को घी मे सेक कर उसमे थोड़ा सर्करा मिला लें और इस तैयार पदार्थ के लड्डू बना लें। और प्रति दिन सेवन करें। इस प्रयोग से शरीर शक्तिवान बनेगा और कमजोरी दूर होगी।

शहद में काली मिर्च का चूर्ण मिला कर प्रति दिन उसका सेवन करने से शरीर के स्नायु मज़बूत होंगे। निर्गुण्डी के तैल की मालिश करने से पैरों की कमजोरी दूर होती है।

सौ से डेढ़ सौ ग्राम धनिया पीस कर  पानी में उबाल लें। जब यह घोल 25% जितना रह जाए तब इसे आग से उतार लें। इस गाढ़े मिश्रण का नित्य सेवन करने से दिमागी कमजोरी दूर होती है। जुकाम दूर होता है, और आँखों की रोशनी में आई हुई कमी दूर होती है।

छाछ पीने से आंतों का रोग नहीं होता है। पाचन शक्ति बढ़ती है। छाछ में काली मिर्च और नमक मिश्रित कर के पीने से शरीर को काफी लाभ होता है। छाछ पीने से पेट साफ रहता है और पेट साफ रहने से बीमारियाँ नहीं होती है। और कमजोरी नहीं आती है।

उड़द पचने में भारी होते हैं, पर शक्तिवर्धक होते हैं। रात को उड़द की दाल भिगो कर रख लें और फिर सुबह में उसे पीस कर 1 चम्मच देशी घी और आधा चम्मच शहद मिला कर उसे खा लेने से शरीर बलवान बन जाता है। इस पदार्थ को खाने के बाद शक्कर (मिश्री) मिला दूध पना चाहिए। उड़द की दाल छिलके सहित खाने से शरीर में चरबी बढ़ती है। तथा कमजोरी दूर होती है।

दिन में दो बार शंखपुष्पी का रस पीने से शरीर की कमजोरी दूर होती है। एक बार में 10-15ml रस पिये। सुबह में एक या दो सेब खा कर उस के ऊपर गुनगुना गरम मीठा दूध पीने से शारीरीक कमजोरी दूर होती है। सेब खाने से हृदय गति भी ठीक रहती है। मस्तिष्क को भी लाभ होता है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352