सावधान ! कैंसर के खतरे को बढ़ाती हैं आपके आसपास की ये 8 चीजें, जानें क्या

564

कैंसर एक गंभीर बीमारी है। शुरुआत में कैंसर के लक्षण आमतौर पर दिखाई नहीं देते हैं, मगर आस-पास मौजूद कई हानिकारक चीजें अंजाने में आपके शरीर में कैंसर पैदा कर सकती हैं। पिछले एक दशक में लोगों की जीवनशैली और खानपान में बहुत बदलाव आया है।

यही कारण है कि दुनियाभर में करोड़ों लोग हर साल कैंसर से मौत का शिकार हो जाते हैं। अब तक शोधकर्ताओं ने 200 से भी ज्यादा प्रकार के कैंसर खोज लिए हैं, जो व्यक्ति के आसपास की चीजों से ही पैदा हो रहे हैं। आइए आपको बताते हैं आपके आसपास कैंसर के खतरे को बढ़ावा देने वाली कौन सी चीजें मौजूद हैं।

डीजल का धुंआ :-

डीजल का धुआं भी कैंसर का कारण बन सकता है। यही कारण है कि व्यस्त रोड के आसपास के घर में रहने वाले लोगों और सड़क पर डीजल का धुंआ झेलने वाले लोगों में भी कैंसर की संभावना बहुत ज्यादा होती है। दरअसल डीजल के जलने से कार्सिनोजेन्‍स पैदा होते हैं।

डीजल की फैक्‍ट्री और डीजल की गाड़ियों से निकलने वाला धुआं फेफड़ों के कैंसर का खतरा बढ़ाता है। यह धुआं ट्रकों से, ट्रेन के इंजनों से, कार से, बस से, जेनेरेटर आदि से निकलता है। इनके कारण सामान्‍य बस्तियां भी प्रभावित होती हैं। जिन रास्‍तों पर ट्रैफिक अधिक होता है उन जगहों पर इनका खतरा भी अधिक रहता है।

शहरों का प्रदूषण और फैक्ट्रियों का धुंआ :-

शहरों में प्रदूषण का स्तर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। वातावरण में जहरीली गैंसें, फैक्ट्रियों से निकलने वाला धुंआ और जहरीले धातु कैंसर के खतरे को बढ़ाते हैं। देखा गया है कि जो लोग प्रदूषित शहरों में रहते हैं या फैक्‍ट्रियों के आस-पास रहते हैं, उनमें सिलिकॉन और अभ्रक जैसे हानिकारक तत्वों के कारण कैंसर की संभावना ज्यादा होती है।

ऐसे लोगों को फेफड़ों का कैंसर, ब्लड कैंसर, गले और मुंह का कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना ज्यादा होती है। यह सब जहरीले धातुओं की वजह से होता है जो हवा या पानी के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश करते हैं।

सूरज की रोशनी :-

आपको जानकर हैरानी होगी कि सूरज की रोशनी यानी धूप भी कैंसर का कारण बन सकती है। दरअसल ओजोन पर्त में छेद होने के कारण सूरज की किरणों के साथ हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणें भी धरती पर आती हैं। इसलिए अगर आप धूप में बहुत ज्यादा समय बिताते हैं, तो आपको त्वचा के कैंसर का खतरा हो सकता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार पराबैंगनी किरणों के अधिक एक्सपोजर से त्वचा पर दो प्रकार के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है – वो हैं मेलिग्नेंट मेलानोमा और स्किन कार्सिनोमा।

मेकअप के सामान और ब्यूटी प्रोडक्ट्स :-

मेकअप के सामान, टूथपेस्ट, डिओ, परफ्यूम, बालों के जेल, क्रीम, लोशन आदि कई चीजें हैं, जिन्हें आप रोजाना प्रयोग करते हैं। ये चीजें भी आपके शरीर में कैंसर पैदा कर सकती हैं। दरअसल रोजमर्रा के जिन प्रोडक्ट्स में सोडियम लॉरेल सल्फ़ेट होता है, उनसे कैंसर का खतरा होता है।

यह वास्तव में झाग बनाने वाला कारक है, जो शेविंग क्रीम, शैंपू, कंडीशनर, मंजन आदि में पाया जाता है। इसके अलावा मरकरी (पारा) भी खतरनाक तत्व है, जो लिपिस्टिक में होता है। शैंपू में कोलतार होता है। इसके अलावा पैराबेन का प्रयोग ज्यादातर सौंदर्य उत्‍पादों में होता है।

सिगरेट का धुंआ :-

अगर आप सिगरेट पीते हैं, तो आपको कैंसर का खतरा है। मगर यदि आप सिगरेट नहीं पीते हैं, फिर भी सिगरेट का धुंआ झेलते हैं, तो भी आपको कैंसर का उतना ही खतरा होता है, जितना कि सिगरेट पीने वाले को। सिगरेट में निकोटीन के अलावा 4000 दूसरे खतरनाक केमिकल्स होते हैं, इसमें से लगभग 60 कार्सिनोजेन्‍स होते हैं। अगर आप धूम्रपान घर के अंदर, कार के अंदर, काम करने वाली जगह पर करते हैं तो कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

कुछ दवाओं के सेवन से भी खतरा :-

कुछ कीमोथेरेपी ड्रग्सभ के कारण दूसरी बार कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। मरीज में इम्यूरन सिस्टोम मजबूत बनाने के लिए दी जाने वाली दवायें कैंसर का खतरा बढ़ा देती हैं। इन दवाओं से लिम्फोेमा होने का खतरा अधिक होता है।

रेडिएशन के कारण :-

रेडिएशन भी कई तरह के कैंसर का कारण बनता है। आजकल कई ऐसे रोग हैं, जिनके इलाज के लिए रेडिएशन का प्रयोग किया जाता है। इनमें मैमोग्राम, एक्स-रे, सीटी स्कैन आदि शामिल हैं। हालांकि ये सभी जांचे सुरक्षित मानी जाती हैं, लेकिन अगर आपके शरीर में पहले से कोई रोग है, तो रेडिएशन के कारण वो बढ़ सकता है। इसलिए जब भी आप क्लीनिकल जांच करवाएं, अपने सभी रोगों के बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं।

प्रोसेस्ड फूड्स :-

बहुत ज्यादा प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन करने से भी कैंसर का खतरा हो सकता है। पैकेटबंद आहार, कोल्ड ड्रिंक्स, ज्यादा चीनी-नमक वाले आहार, रेड मीट ज्यादा फैट वाले आहार और केमिकलयुक्त आहारों के सेवन से भी कैंसर का खतरा होता है। हाल में हुए कई शोध ये बताते हैं कि बहुत ज्यादा प्रोसेस किए गए आहारों का सेवन कैंसर के खतरे को 10 प्रतिशत तक बढ़ा देता है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352