लूज मोशन या पतले दस्त को तुरंत ठीक करते हैं ये 5 उपाय, घर पर करें इलाज

1424

लूज मोशन की समस्या में बार-बार पतले दस्त होते हैं। अक्सर खान-पान की गड़बड़ी या अपच के कारण ये समस्या होती है। पेचिश के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है और शरीर कमजोर हो जाता है। कई बार पेचिश के साथ-साथ मल में खून और म्यूकस भी आता है, जो खतरनाक संकेत हो सकता है। इसलिए इसे तुरंत रोकना बहुत जरूरी है। आयुर्वेद में पेचिश की समस्या के लिए कई आसान उपचार बताए गए हैं, जो दस्त में तुरंत राहत दिलाते हैं।

केला खाएं :-

केला एनर्जी का सबसे अच्छा स्रोत है। इसके साथ ही ये पेट की समस्याओं में भी फायदेमंद है। पेचिश होने पर तुरंत 2-3 केला खाएं। केले में मौजूद पोटैशियम, जिंक और मैग्नीशियम पेट की सभी समस्याओं में फायदेमंद होते हैं। केला मल को बांधता है, जिससे पतले दस्त आसानी से बंद हो जाते हैं।

तरल पदार्थ ज्यादा लें :-

पेचिश होने पर आपको भारी खाना खाने से बचना चाहिए और तरल पदार्थों का सेवन ज्यादा करना चाहिए। पानी, नारियल पानी, लस्सी, दही, और नींबू पानी लेना पेचिश में फायदेमंद होता है।

इसका कारण यह है कि पेचिश के कारण शरीर में पानी की कमी होने पर शरीर कमजोर होने लगता है और अंगों को काम करने में मुश्किल आती है। छोटे बच्चों को अगर पेचिश हो तो नमक और चीनी पानी का घोल डिहाइड्रेशन के इलाज में उपयोगी है।

एक ग्लास छाछ पिएं :-

पेचिश होने पर बार-बार पतली दस्त के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है। इसलिए पेचिश होने पर एक ग्लास छाछ में 4 चुटकी सेंधा नमक और दो चुटकी जीरा पाउडर डालकर पी लें। यह पेट के लिए अनुकूल बैक्टीरिया विकसित करने में मदद करता है। वैकल्पिक रूप से, आप भी दही भी खा सकते है। छाछ और दही दोनों में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं।

जो पेट में एसिटिक एसिड का उत्पादन कर हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करते हैं। इससे पेचिश तुरंत बंद हो जाएगी और शरीर भी हाइड्रेट रहेगा। पेचिश में लापरवाही बरतने पर पानी की कमी कई बार आपको डिहाइड्रेशन का शिकार बना सकती है। डिहाइड्रेशन कई बार जानलेवा भी हो सकता है।

ईसबगोल की भूसी :-

ईसबगोल को आयुर्वेद में पेचिश का रामबाण इलाज माना जाता है। इसके प्रयोग के लिए एक कटोरी दही में दो चम्मम ईसबगोल की भूसी, 2 चुटकी काला नमक और 1 चुटकी पिसा जीरा मिलाकर पिएं।

इसके अलावा ईसबगोल की भूसी को खोए की मिठाई या किसी भी गीले आहार के साथ मिलाकर खा सकते हैं। खाने के कुछ ही देर में ईसबगोल अपना कमाल दिखाता है और आपकी पेचिश बंद हो जाती है।

बेल का शर्बत और आम का पना :-

गर्मी के दिनों में पेचिश की समस्या होने पर डिहाइड्रेशन का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। ऐसे में पेचिश में अगर आप बेल का जूस या आम का पना पीते हैं, तो आपको तुरंत राहत मिलती है। बेल का फल पेट के लिए फायदेमंद होता है।

इसके अलावा आम के पने में भी पुदीना, जीरा, काला नमक आदि तत्व फायदेमंद होते हैं इसलिए पेचिश में आराम मिलता है।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352