इस तरह खाएंगे अंगूर तो कभी नहीं होगा कैंसर और खून की कमी

428

अंगूर आजकल हर सीजन में मिल जाता है। रस से भरा अंगूर एक सुगंधित लता वाला फल है। ज्यादातर लोगों को अंगूर पसंद होता है और मुलायम होने और ढेर सारे विटामिन्स से भरा होने के कारण बच्चे, बूढ़े और जवान सभी इसे शौक से खाते हैं। अंगूर मधुमेह और कैंसर रोगियों के लिए फायदेमंद है। अंगूर में हेरोस्टिलवेन नामक पदार्थ पाया जाता है जो एण्टीआक्सीडेंट है।

अंगूर खून में से शूगर की मात्रा को कम करता है। इसलिए मधुमेह रोगी के लिए भी अंगूर उपयोगी है। हरे अंगूरों की तुलना में काले अंगूरों में ओरोस्टिलवेन की मात्रा अधिक होती है जिसे खाने से खून का संचार बदलता है। एनीमिया होने पर अंगूर खाने से तुरंत फायदा होता है। अंगूर ग्लूकोज, शुगर, आयरन, खून की कमी को दूर करता है। आधा कप अंगूर रस नित्य पीने से खून की कमी दूर होती है।

अंगूर एक खट्टा फल है जिसमें एक विशिष्ट स्वाद होता है और यह सम्पूर्ण पोषण के लिए भी अच्छा होता है। विशेषज्ञों का ऐसा भी मानना है कि बचपन से ही अंगूर खाने से युवावस्था तक पहुंचते – पहुंचते डायबिटीज़ का खतरा कम हो जाता है।

अंगूर की पांच जातियां :-

तीन हरे और दो काले रंग की होती हैं। अंगूर में भस्म, अम्ल, शर्करा, गौंद, ग्लूकोज, कषाय द्रव्य, साइट्रिक, हाइट्रिक, रैसेमिक और मौलिक एसिड, सोडियम और पोटेशियम और क्लोराइड मेग्नीशियम आदि होता है।

अंगूर के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ :-

गुणकारी है अंगूर :-

अंगूर प्राकृतिक रुप से मीठा और बहुत स्‍वादिष्‍ट होता है। अंगूर में सोडियम, पोटैशियम, साइट्रिक एसिड, मैग्‍नीशियम और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह सामान्‍य बीमारियों के अलावा कैंसर जैसी घातक बीमारियों से भी शरीर को बचाता है। सुबह-सुबह खाली पेट खाने से अंगूर अधिक फायदा करता है।

एंटी-ऑक्‍सीडेंट् का स्रोत :-

अंगूर के छोटे-छोट दानें बड़ी खूबियों से भरे होते हैं। इसमें पॉली-फेनोलिक फाइटोकेमिकल कंपाउंड पाए जाते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को न केवल कैंसर से, बल्कि कोरोनरी हार्ट डिजीज, नर्व डिजीज, अल्जाइमर व वाइरल तथा फंगल इन्फेक्शन से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं।

अन्‍य पोषक तत्‍व :-

अंगूर में मिलने वाले पोषक तत्व हमारे पूरे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं। अंगूर में सीमित मात्रा में कैलोरी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फैट, सोडियम, फाइबर, विटामिन, कैल्शियम, कॉपर, मैग्नीशियम, मैंग्नीज, जिंक और आयरन भी मिलता है। जो हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है।

खून की कमी होने पर :-

यदि शरीर में खून की कमी हो जाये तो अंगूर के एक गिलास जूस में दो चम्मच शहद घोलकर पिलाने पर रक्त की कमी को पूरा किया जा सकता है। अंगूर का सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ती है। काला अंगूर खाने से शरीर में खून के थक्‍के नहीं जमते, और हार्ट अटैक की आशंका भी कम होती है।

त्‍वचा और आंखों के लिए :-

अंगूर में विटामिन और अन्‍य तत्‍व पर्याप्त मात्रा में मौजूद होते हैं, जो आंखों और त्‍वचा के लिए जरूरी होता है। अंगूर का नियमित सेवन करने से त्‍वचा में निखार आता है, यह झुर्रियों को भी मिटाता है। इसके अलावा यह आंखों की रोशनी भी बढ़ाता है।

माइग्रेन में फायदेमंद :-

अंगूर का जूस माइग्रेन के दर्द को ठीक करने में काफी सहायक होता है। रोजाना अंगूर खाने से माइग्रेन के दर्द के बहुत ही आराम मिलता है। इसके अलावा यदि सिर में दर्द हो तो अंगूर का जूस पीने से ठीक हो जाता है।

पेट की समस्‍या :-

अंगूर पेट की समस्‍या से भी निजात दिलाता है। पेट की गर्मी दूर करने के लिए 15-20 अंगूर रात को पानी में भिगों दे और सुबह भीगे हुये अंगूर को मैश कर लें और अब इसमें आधा चम्मच चीनी मिलाकर खायें, पेट की गर्मी दूर हो जायेगी। इसके अलावा अंगूर भूख बढ़ाता है और पाचन शक्ति ठीक रखता है।

कैंसर से बचाता है :-

अंगूर कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से बचाता है। कई शोधों में यह बात सामने आयी है कि कैंसर में पाये जाने वाले एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स ब्रेस्‍ट कैंसर को फैलने से रोकते हैं। इसलिए अंगूर का सेवन करने से कैंसर का खतरा भी कम होता है।

मुंह की समस्‍या :-

यदि आप मुंह की समस्‍याओं से ग्रस्‍त हैं तो आपको अंगूर का सेवन करना चाहिए। अंगूर के रस का गरारा करने से मुंह के घावों एवं छालों में राहत मिलती है। यह मुंह की दुर्गंध भी दूर करता है।

दिमाग के लिए :-

अंगूर दिमाग के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अंगूर खाने से दिमाग तेज होता है और और याद्दाशत मजबूत होती है। इसलिए दिमाग को तेज रखने के लिए अंगूर का सेवन करना चाहिए।

अंगूर के अन्य फायदे :-

जुकाम में प्रतिदिन 50 ग्राम अंगूर खाने से जुकाम से छुटकारा मिल जाता है।

अंगूर खाने से ब्‍लड प्रेशर भी सामान्य रहता है।

कैंसर रोग में पहले तीन दिन थोड़े अंगूर का रस सेवन करें फिर धीरे-धीरे एक ग्लास तक पानी की आदत डालें। टायफाइड बुखार में मुनक्का सेवन करना फायदेमंद रहता है। इससे पेट साफ होता है तथा मल भी जमा नहीं होता।

चेचक के रोगी को अंगूर खिलाने से आराम मिलता है।

आधे सिर के रोगी को जिसमें दर्द सूर्योदय से पहले प्रारम्भ होता है। सूर्य के साथ ही बढ़ता जाता है। इस स्थिति में आधा कप अंगूर का रस सूर्योदय से पहले पीने से सिरदर्द ठीक हो जाता है।

हृदय में दर्द हो तो अंगूर का आधा कप रस पीने से आराम मिलता है।

अंगूर को नमक, काली-मिर्च के साथ खाने से कब्ज में लाभ होता है।

गुर्दे के दर्द में अंगूर के ताजा पत्ते लगभग 50 ग्राम पानी में पीसकर थोड़ा नमक मिलाकर छान लें रोगी को पिलाने से दर्द में लाभ होता है।

अंगूर को किसी भी रूप में खाने से फायदा होता है। लेकिन अंगूर को खाने से पहले उसे अच्छी तरह धुल लें क्योंकि अंगूर की खेती के समय इन पर कई सारे कीटनाशक आदि का छिड़काव किया जाता है।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352