जानिए चोट, मोच और सूजन तुरंत ठीक करने के आयुर्वेदिक उपचार

1115

चोट कभी भी लग सकती है और मोच कभी भी आ सकती है और यह ऐसे समय पर आती है जब आप या तो अपने घर पर होतें हैं या एैसी जगह जो अस्पताल से काफी दूर होता है एैसे समय पर आप कुछ आयुर्वेदिक नुस्खे अपना सकते हैं। किसी दुर्घटना का शिकार होने पर या किसी धारदार हथियार से कट जाने पर जब त्वचा से खून आने लगता है तो उसे चोट कहा जाता है।

वहीं किसी ऊबड़-खाबड़ जगह पर चलने या गड्ढे में अचानक से पैर आने पर मोच या फिर अंदरूनी चोट आ जाती है। मोच आने से उस अंग पर सूजन आ जाती है और काफी दर्द होने लगता है। इस दर्द का सही तरीके से अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है क्योंकि यह दिखाई तो नहीं देती लेकिन महसूस बहुत होती है।

इसलिए हमें मोच या चोट आने पर तुरंत इसे ठीक करने के लिए प्राथमिक उपचार करना चाहिए। चलिए आपको बताते है कि ऐसी स्थिति में कुछ घरेलू उपचार के जरिए कैसे मोच,अंदरूनी चोट एवं सूजन को दूर कर सकते है। जो प्राचीन काल में इस्तेमाल किये जाते रहे हैं और जिनसे मोच, चोट और सूजन में राहत मिल सकती है।

मोच, चोट और सूजन के लिए आयुर्वेदिक उपाय

अगर मोच आने के साथ थोड़ा-सा छिल गया है तो आप सबसे पहले एक कटोरी में पाँच-छह चम्मच सरसों का तेल लें। उसमें आधा छोटा चम्मच हल्दी पाऊडर या कच्चा हल्दी का पेस्ट लें और चार-पाँच लहसुन का फाँक पीसकर डालने के बाद धीमी आंच में कुछ देर रखें। उसके बाद मोच पर धीरे-धीरे इस तेल से मसाज़ करें। फिर देखें इस तेल का जादू। सरसों और हल्दी का एन्टी-इन्फ्लैमटोरी और एन्टी-फंगल गुण दोनों सूजन और घाव को ठीक होने में मदद करता है।

चोट किसी भी स्थान पर लगी हो तो आप कपूर और घी की बराबर मात्रा में मिलाकर चोट वाले स्थान पर कपडे से बांधे एैसा करने से चोट का दर्द कम हो जाता है तथा रक्त बहना भी बंद हो जाता है।

चोट के कारण कटे हुए स्थान पर पिसी हुई हल्दी भर देने से खून का बहना बंद हो जाता है तथा हल्दी कीटाणुनाशक भी होती है।

यदि आप के पैर में मोच आ गई है तो आप तेजपात को पीसकर मोच वाले स्थान पर लगायें ।

मोच को ठीक करने का एक और कारगर उपाय यह है कि आप अनार के पत्ते पीसकर मोच वाली जगह पर मलें।

सरसों के तेल में नमक को मिला लें और इसे गर्म करके मोच वाली जगह पर लगाएं। एैसा करने मोच में राहत मिलती है।

हाथ पैरों की ऐठन और पैर की मोच पर अखरोट का तेल लगाने से दर्द से राहत मिलती है।

चूने को शहद के साथ मिला लें और इससे मोच वाली जगह पर आराम से मालिश करें। इस उपाय से भी मोच में बहुत राहत मिलती है।

एलोवेरा के गूदे को सूजन और मोच वाली जगह पर लगाने से आराम मिलता है।

इमली की पत्तियों को पीसें और इसे आग में थोड़ा गुनगुना करें। और इसे मोच वाली जगह पर लगाने से दर्द से तुरंत राहत मिलती है।

हल्दी और सरसों के तेल को मिला लें और इसे हल्की आंच में गर्म करके फिर इसे मोच वाली जगह पर लगाएं और किसी कपड़े से इसे ढक दें।

पका हुआ लहसुन और अजवायन को सरसों के तेल में मिलाकर गर्म करें। और फिर इस तेल की मालिश मोच वाले हिस्से पर करें। आपको राहत मिलेगी।

महुआ और तिल को कपड़े में बांध कर लगाने से हड्डी की मोच ठीक हो सकती है।

ढ़ाक के गोंद को पानी में मिलाकर उसका लेप करने से चोट में सूजन सही हो जाती है।

अगर आपको इससे कोई फायदा लगे तो इसे शेयर करके औरों को भी बताएं. साथ ही ध्यान रखें कि सभी घरेलु नुस्खे सभी के लिए बराबर कारगर नहीं होते. अपनी तासीर के हिसाब से इनका इस्तेमाल करें. कोई भी दिक्कत हो तो तुरंत वैद्य या चिकित्सक से संपर्क करें.

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352