अगर आप भी बाजरा खा रहें है तो जरुर जानिए इसकी कितनी खुराक आपके लिए फायदेमंद है

676

बाजरा (Bajra) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

बाजरा (Bajra) एक अनाज है, जोकि प्रोटीन, फाइबर, मैग्नीशियम, फास्फोरस, फाइबर और आयरन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है.

बाजरा (Bajra) का नियमित सेवन करने से रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है

बाजरा में पाए गए पॉलीफेनॉल, कोलेजन की मात्रा को बढ़ाते हैं और आपकी त्वचा को रिपेयर और हेल्थी रखते है ।

बाजरा खाने के फायदे:

एनर्जी के लिए:

बाजरा खाने से एनर्जी मिलती है. ये ऊर्जा एक बहुत अच्छा स्त्रोत है. इसके अलावा अगर आप वजन घटाना चाह रहे हैं तो भी बाजरा खाना आपके लिए फायदेमंद होगा. दरअसल, बाजरा खाने के बाद काफी देर तक भूख नहीं लगती है. जिससे वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है.

स्वस्थ दिल के लिए

बाजरा कोलस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है. जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है. इसके अलावा ये मैग्नीशियम और पोटैशियम का भी अच्छा स्त्रोत है जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मददगार है.

पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में सहायक

बाजरे में भरपूर मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं जो पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में सहायक हैं. बाजरा खाने से कब्ज की समस्या नहीं होती है.

डायबिटीज से बचाव

कई अध्ययनों में कहा गया है कि बाजरा कैंसर से बचाव में सहायक है. पर ये न केवल कैंसर से बचाव में सहायक है बल्कि इसके नियमित सेवन से डायबिटीज का खतरा भी कम हो जाता है. डायबिटीज के मरीजों को इसके नियमित सेवन की सलाह दी जाती है.

मांसपेशियों (Muscles) को आराम देता है

बाजरा में कोलेस्ट्रोल को कम करने की क्षमता के कारण वजन को कम करने में मदद करता है।

ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) के खतरे को कम करने में आपकी मदद करता है।

बाजरा का सेवन करने से गैल्स्टोन का खतरा कम होता है।

बाजरा का सेवन कर एनीमिया के प्रभाव को कम किया जा सकता है।

सावधानियां और चेतावनी (Precautions While Eating Bajra In Hindi)

अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, यदि:

अगर आप प्रेगनेंट है या उसके बारे में सोच रही है, या फिर बच्चे को दूध पिला रही है, तो इस दौरान आपको बाजरे के सेवन से पहले डॉक्टर से बात करनी चाहिए क्योंकि इस अवस्था मे आपको डॉक्टर की बताई दवाओं और डाइट का ही सेवन करना चाहिए।

आपको  बाजरे या उसके किसी सबटेंस से कोई एलर्जी तो नहीं

आपको किसी दूसरी चीजों से एलर्जी तो नहीं जैसे, खाने,रंग, खाने को सुरक्षित रखने वाले पदार्थ या जानवरों से।

सुरक्षा के लिहाज से अभी बाजरे के उपयोग को लेकर अभी और अध्ययन की जरूरत है । बाजरे के सेवन से होने वाले फायदे से पहले आपको उसके खतरों को समझ लेना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बल एक्सपर्ट से बात कीजिये।

कितना सुरक्षित है?

गर्भावस्था और स्तनपान:मां के दूध (breast milk) को बढ़ाने के लिए बाजरा (Bajra) का उपयोग किया जाता है।

लेंकिन इसके अभी तक कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिले हैं कि यह मां के दूध में वृद्धि कर सकता है। कई उपयोगकर्ता यह मानते हैं कि इसमें उपस्थित लैक्‍टोजेनिक (lactogenic) गुणों के कारण यह महिलाओं में दूध उत्‍पादन को बढ़ाता है।

साइड इफेक्ट (Bajra Side Effects In Hindi)

बाजरे से मुझे किसप्रकार के साइड इफेक्ट हो सकते है?

बाजरा में गोइट्रोजन (goitrogen) होता है जो थायरॉइड हार्मोन के उत्पादन को उत्तेजित करता है।

इसका अधिक मात्रा में सेवन थायरॉयड की समस्या का कारण बन सकता है।

अधिक मात्रा में बाजरा का सेवन करने से आपकी त्वचा रूखी हो सकती है।

बाजरे का अधिक उपयोग घेंघा (Goitre), चिंता, तनाव और सोचने की क्षमता मे कमी का कारण बन सकता है।

बाजरा का प्रभाव (Bajra Effects In Hindi)

बाजरा किस प्रकार प्रभावित करता है?

यह बाजरा एक गर्मी पैदा करने वाला अनाज है । यह आपकी मौजूदा दवाओं या मेडिकल कंडिसन्स पे असर डाल सकता है।  उपयोग करने से पहले अपने हर्बल एक्सपर्ट, वैद या डॉक्टर से परामर्श करें।

बाजरा की खुराक (Bajra Dosage In Hindi)

बाजरा किन रूपों में उपलब्ध है?

बाजरे  की खुराक हर किसी के लिए अलग अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। बाजरा हमेशा सुरक्षित नहीं होता है।  कृपया अपने उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352