नास्त्रेदमस ने मोदी सरकार को लेकर 450 वर्ष पहले की थी ये भविष्यवाणी, जानिये और शेयर कीजिये

655

मोदी सरकार को आए तीन साल होने जा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने कड़े और बड़े फैसले लिए, जिससे भारत शक्तिशाली देशों में गिना जाने लगा है। आपको जानकर हैरानी होगी की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संदर्भ में यह भविष्‍यवाणी आज से करीब 450 वर्ष पहले ही हो चुकी थी। प्राचीन ज्योतिष नास्त्रेदमस के नाम को किसी परिचय की ज़रूरत नहीं है।

नास्त्रेदमस 15वीं सदी में जन्मे फ्रांस के प्रसिद्ध डॉक्टर-शिक्षक थे जो प्लेग की बिमारियों का इलाज करते थे।। परंतु इन्हें पहचान मिली इनकी कविताओं पर आधारित भविष्यवाणियों से। इन्होंने छंदो पर भविष्य कथन किया था और अपनी पुस्तक में 12 सेंचुरिज यानी 12 सौ चतुष्पदियां लिखी। 20वीं शताब्दी में नास्त्रेदमस की कथित भविष्यवाणीयां अत्यधिक लोकप्रिय हो गईं व कई प्रमुख विश्व घटनाओं की भविष्यवाणी का श्रेय उन्हें दिया गया। जिनमें से हिटलर का होना, अमरीका में 9/11 का हमला होना शामिल है।

नास्त्रेदमस ने अपनी पुस्तक को लेकर कहा था की जो कुछ भी वह कह रहे हैं, उसे समय सत्य साबित करेगा। उन्होंने भविष्यवाणियों में स्थान व समय को गुप्त रखकर प्रतीकों द्वारा स्पष्ट किया है। सन् 1566 में नास्त्रेदमस की मृत्यु हुई थी। भारत देश के राजनीतिक संदर्भ में नास्‍त्रेदमस ने तकरीबन 450 साल पहले बताया था की कौन बनेगा भारत के भाग्य का विधाता-

नास्त्रेदमस की सातवीं सेंचुरिज अनुसार एक ऐसा व्यक्ति होगा जो निर्धन घर में पैदा होकर दुनिया का मुक्तिदाता कहलाएगा। पहले सब लोग उससे नफरत करेंगे परंतु बाद में सभी उससे प्यार करेंगे। नास्त्रेदमस अनुसार वह व्यक्ति सन 2014 से 2026 अर्थात 20 वर्षों तक देश की दशा व दिशा बदलने में जुट जाएगा। इस भविष्यवाणी के अनुसार एक अधेड़ उम्र का अजोड़ महासत्ता अधिकारी भारत ही नहीं सारी पृथ्वी पर स्वर्ण युग लाएगा। जो अपने सुशासन से भारत को सर्वश्रेष्ठ सनातन राष्ट्र बनाएगा।

वह शासक चांडाल चौकड़ियों को परास्त कर अपने दम पर सत्ता पाएगा। उसके नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनेगा। नास्त्रेदमस अनुसार वह समुद्र से सटे किसी प्रांत में किसी छोटी जाति में जन्म लेगा, लेकिन सभी जाति के लोग उसके नाम पर एकजुट हो जाएंगे। जिस समय उसकी लोकप्रियता होगी उस समय किसी गोरी चमड़ी वाली औरत का शासन होगा। लोग जिसके शासन से त्रस्त होकर त्राहि-त्राहि कर करेंगे। उस महान व्यक्ति का नाम एक महान संत के नाम पर होगा। उसकी प्रशंसा और शक्ति बढ़ती जाएगी। भूमि और समुद्र में उस जैसा कोई शक्तिशाली कोई न होगा।

नास्त्रेदमस को विश्व का सबसे बड़ा भविष्य दृष्टा माना जाता है, जिसकी भविष्यवाणियों में से गत 400 वर्षों में लगभग 350 सही निकली हैं। नास्त्रेदमस की 1555 में प्रकाशित सेन्टारीज नामक पुस्तक में 7.7.1999 को एक बड़े नुक्सान का संकेत दिया था। 5.1.1999 को भी  विशेष स्थितियों, भूचाल आने और विनाशकारी होने के संबंध में बताया था।

भविष्यवाणी के अनुसार अधेड़ उम्र वाला यह प्रशासक केवल भारत के लिए ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए ‘स्वर्ण युग’ लाएगा। इस व्यक्ति के नेतृत्व में भारत न केवल वैश्विक महाशक्ति बनेगा बल्कि दुनिया के कई देश भारत की शरण में आएंगे।

वह समुद्र से सटे किसी प्रांत में किसी छोटी जाति में जन्म लेगा, लेकिन सभी जाति के लोग उसके नाम पर एकजुट हो जाएंगे। जिस समय उसकी लोकप्रियता होगी उस समय किसी गोरी चमड़ी वाली औरत का शासन होगा। लोग जिसके शासन से त्रस्त होकर त्राहि-त्राहि कर करेंगे। उस महान व्यक्ति का नाम एक महान संत के नाम पर होगा। उसकी प्रशंसा और शक्ति बढ़ती जाएगी। भूमि और समुद्र में उस जैसा कोई शक्तिशाली कोई न होगा।

सच हो चुकी भविष्यवाणियां :-

नास्त्रेदमस की कई भविष्यवाणियां सच साबित हुई थीं जिसमें 9/11 वर्ल्ड ट्रेंड सेंटर पर आतंकी हमले की भविष्यवाणी सबसे महत्वपूर्ण थी जिसमें कहा गया था कि दो लोहे के पक्षी नई भूमि की दो बड़ी-सी चट्टान से टकराएंगे जिसके बाद युद्ध होगा। उनके अनुसार इसके बाद से दुनिया में भारी परिवर्तन होंगे। सांस्कृतिक और धार्मिक संघर्ष बढ़ेगा।

अधिक जानकरी के लिए देखे विडियो :-