आज का पंचांग, राशिफल और शुभ-अशुभ

136

आज का पंचांग

कलियुगाब्द…………………….5121

विक्रम संवत्……………………2076

शक संवत्………………………1941

रवि…………………………..उत्तरायण

मास……………………………आषाढ़

पक्ष………………………………शुक्ल

तिथी……………………………अष्टमी

रात्रि 03.31 पर्यंत पश्चात नवमी

सूर्योदय………..प्रातः 05.48.16 पर

सूर्यास्त………..संध्या 07.15.00 पर

सूर्य राशि……………………….मिथुन

चन्द्र राशि……………………….कन्या

नक्षत्र……………………………..हस्त

संध्या 05.13 पर्यंत पश्चात चित्रा

योग……………………………..परिघ

दोप 12.34 पर्यंत पश्चात शिव

करण…………………………….विष्टि

दोप 04.28 पर्यंत पश्चात बव

ऋतु………………………………ग्रीष्म

दिन………………………….मंगलवार

आंग्ल मतानुसार :-

09 जुलाई सन 2019 ईस्वी |

शुभ अंक……………..9

शुभ रंग………….काला

 राहुकाल :-

दोप 03.51 से 05.31 तक ।

उदय लग्न मुहूर्त :-

मिथुन

04:12:20    06:25:39

कर्क

06:25:39    08:41:28

सिंह

08:41:28    10:52:55

कन्या

10:52:55    13:03:13

तुला

13:03:13    15:17:28

वृश्चिक

15:17:28    17:33:17

धनु

17:33:17    19:38:35

मकर

19:38:35    21:25:25

कुम्भ

21:25:25    22:58:44

मीन

22:58:44    24:29:41

मेष

24:29:41    26:10:07

वृषभ

26:10:07    28:08:24

दिशाशूल :-

उत्तरदिशा – यदि आवश्यक हो तो गुड़ का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।

✡ चौघडिया :-

प्रात: 09.11 से 10.51 तक चंचल

प्रात: 10.51 से 12.31 तक लाभ

दोप. 12.31 से 02.11 तक अमृत

दोप. 03.50 से 05.30 तक शुभ

रात्रि 08.30 से 09.51 तक लाभ ।

आज का मंत्र :-

|| ॐ वातात्म्जाय नम: ||

संस्कृत सुभाषितानि :-

मुखं पद्मदलाकारं वाणी चन्दनशीतला ।

ह्रदयं क्रोधसंयुक़्तं त्रिविधं धूर्तलक्षणम् ॥

अर्थात :-

मुख पद्मदल के आकार का, वाणी चंदन जैसी शीतल, और ह्रदय क्रोध से भरा हुआ – ये तीन धूर्त के लक्षण हैं ।

आरोग्यं :-

सिरदर्द से बचने के घरेलू उपचार :-

  1. सिरदर्द होने पर बिस्तर पर लेटकर दर्द वाले हिस्से को बेड के नीचे लटका दीजिए। सिर के जिस हिस्से में दर्द हो रहा हो उस तरफ वाले नाक में सरसों के तेल की कुछ बूंदें डाल दीजिए, उसके बाद जोर से सांसों को ऊपर की तरफ खींचिए इससे सिरदर्द से राहत मिलेगी।
  2. सिरदर्द होने पर दालचीनी को पानी के साथ महीन पीसकर माथे पर पतला लेप कर लगा लीजिए। लेप सूख जाने पर उसे हटा लीजिए। 3-4 लेप लगाने पर सिरदर्द होना बंद हो जाएगा।
  3. पुष्कर मूल को चंदन की तरह घिसकर उसके लेप को माथे पर लगाने से सिर दर्द ठीक होता है।
  4. मुलहठी को कूट-पीसकर महीन चूर्ण बना लीजिए। इस चूर्ण को नाक के पास ले जाकर सूंघने से सिरदर्द में राहत मिलती है।
  5. गर्म मासाला चाय सिर के दर्द के लिए एक कारगर उपाय है। आप इस चाय में एक लौंग और तिलसी के कुछ पत्ते भी डाल सकते हैं। यह चाय नींद को भगा कर दिमाग को सचेत करती है। आप इसमें थोड़े से अदरख के साथ इलायची भी मिला सकते हैं। इससे आपका सिरदर्द तो गायब होगा ही साथ में आप तरोताज़ा भी महसूस करेगें।
  6. सिरदर्द होने पर पीपल, सोंठ, मुलहठी, सौंफ, कूठ इन सबको लगभग 10-10 ग्राम लेकर पीसकर चूर्ण बना लीजिए। उसके बाद इस चूर्ण में एक चम्मुच पानी मिलाकर गाढा लेप बना बना लीजिए। इस लेप को माथे पर लगाइए। सिरदर्द होना बंद हो जाएगा।
  7. अधिक तनाव और दिन भर की भाद दौड़ की वजह से भी सिरदर्द हो सकता है। इसे दूर करने के सिए किसी अच्‍छे हर्बल तेल से अपने सिर की मालिश करवाएं। मालिश के पहले तेल का हल्‍का सा गर्म कर लें। तेल लगाते समय उंगलियों को सिर पर हल्के दबाव के साथ धीरे धीरे मालिश करें। इससे न केवल सिरदर्द दूर होगा। बल्कि इस तरह की मसाज से बालों की जड़े भी मजबूत होती हैं और बाल अच्छी तरह से बढ़ते हैं।
  8. गोदन्ती भस्म व प्रवाल भस्म और छोटी इलायची के दाने। तीनों को पीसकर महीन चूर्ण बना लीजिए। सुबह उठकर खाली पेट थोडा सा चूर्ण लेकर दही और पानी के साथ पीजिए। इससे सरदर्द की समस्या से निजात मिलेगी।

आज का राशिफल :-

राशि फलादेश मेष :-

(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)

आज का दिन शुभ नहीं है। जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। रक्त की अल्पता या त्वचा संबंधी रोग हो सकते हैं। कार्यक्षेत्र में अस्थिरता बनी रहेगी। माता के विचारों का सम्मान करें। परिवार में सामंजस्य बनाकर रखें। क्रोध पर नियंत्रण रखें।

राशि फलादेश वृष :-

(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)

आज का दिन शुभ है। आपके मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। संतान के कार्य सिद्ध होंगे। इससे आपके मन में प्रसन्नता बनी रहेगी। जीवनसाथी के विचारों का सम्मान करें। परिवार में खुशी का वातावरण रहेगा। कार्यक्षेत्र में कई प्रकार की नई योजनाएं बनेंगी। धन के आगमन के नए रास्ते खुलेंगे।

राशि फलादेश मिथुन :-

(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)

आज का दिन शुभ नहीं है। मन में असमंजस रहेगा। मानसिक तनाव रहेगा। किसी कार्य के बिगड़ने का अंजाना-सा भय बना रहेगा। कहीं पर अपयश व अपमान भी हो सकता है। संतान के विचारों से मतभेद बना रहेगा, परंतु उनसे सामंजस्य बनाकर रखें। संतान का स्वास्थ्य भी खराब रह सकता है।

राशि फलादेश कर्क :-

(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

आज का दिन शुभ है। मन प्रसन्न रहेगा। आज आप सबसे मनोविनोदपूर्ण व्यवहार करेंगे। मीठा खाने का अधिक मन होगा। छोटे भाइयों के प्रति आप अधिक स्नेहपूर्ण रहेंगे। संतान को सफलता प्राप्त होगी। इससे आप अधिक प्रसन्नता का अनुभव करेंगे। कोई महत्वपूर्ण व्यावसायिक यात्रा हो सकती है। स्थायी संपत्ति के योग बनते हैं।

राशि फलादेश सिंह :-

(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

आज का दिन सामान्य है। मन में कुछ तनाव रहेगा। संतान को पेट संबंधी विकार उत्पन्न हो सकता है। संतान के उज्ज्वल भविष्य के लिए चिंता रहेगी। धर्म के प्रति रुचि रहेगी। स्थायी संपत्ति के लिए धन खर्च हो सकता है। कार्यक्षेत्र में सफलता रहेगी, परंतु कार्यक्षेत्र में कुछ अस्थिरता भी बनी रहेगी। स्थानांतरण भी हो सकता है। पिता के द्वारा उचित मार्गदर्शन से लाभ प्राप्त होगा।

राशि फलादेश कन्या :-

(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)

आज का दिन शुभ है। पहले किसी को दिया हुआ उधार आज मिलने की संभावना है। कई प्रकार से धनप्राप्ति के योग बनते हैं। धन में स्थिरता आएगी। बड़े भाई-बहन से भी रिश्ते मधुर बनेंगे एवं भाई-बहनों का सहयोग भी प्राप्त होगा। आपकी बौद्धिक चतुराई एवं व्यवहारकुशलता से आपको सफलता प्राप्त होगी। आज आपकी सलाह को लोग मानेंगे एवं सफल होंगे। कार्यक्षेत्र में कोई महत्वपूर्ण ठोस निर्णय ले सकते हैं।

राशि फलादेश तुला :-

(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)

आज का दिन संघर्ष का दिन है। आज आप अधिक परिश्रम करेंगे। आज आप जो कार्य करेंगे, उसका प्रतिफल आज प्राप्त नहीं होगा। आज कर्म का दिन है, फल का नहीं। वाणी पर नियंत्रण रखें। धन अधिक खर्च होने से मन अस्थिर रहेगा। किसी की सलाह पर चिड़चिड़ाहट हो सकती है, परंतु संयम रखें व व्यवहार में सामंजस्य बनाकर चलें। भविष्य के कार्यों की रूपरेखा बना सकते हैं। कानूनी कार्यों के लिए दिन शुभ नहीं है। कोई पुराना विवाद उभर सकता है।

राशि फलादेश वृश्चिक :-

(तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

आज का दिन शुभ है। मन में धर्म के प्रति आस्था मजबूत होगी। माता के आशीर्वाद से धन एवं स्थायी संपत्ति के योग अच्छे बनते हैं। किसी शुभ अवसर पर ससुराल जाने के योग बन सकते हैं। ससुराल पक्ष से सहयोग प्राप्त होगा। धार्मिक या व्यावसायिक यात्रा हो सकती है। बड़ी बहन का सहयोग प्राप्त होगा। जीवन में सफलता बढ़ती जाएगी।

राशि फलादेश धनु :-

(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)

आज का दिन सामान्य है। स्थायी संपत्ति को लेकर विवाद हो सकता है। जीवनसाथी की सलाह को मानें। वर्तमान में जीवनसाथी के स्वभाव में क्रोध की अधिकता है अत: सामंजस्य बनाकर रखें। कार्यक्षेत्र में थोड़ी अस्थिरता रहेगी। आय के साधनों में भी रुकावट आ सकती है। खर्च अधिक होने से मन में अस्थिरता रहेगी। माता-पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। पिता के स्वास्थ्य पर धन खर्च हो सकता है। परिवार में सामंजस्य बनाकर रखें।

राशि फलादेश मकर :-

(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)

आज का दिन शुभ है। आज आप आत्मविश्वास से भरपूर रहेंगे। आप अपने प्रभाव से शत्रुओं को परास्त कर सकेंगे। आय के साधन और मजबूत होंगे। कार्यक्षेत्र में और सफलता मिलेगी। परिवार के लोगों का भरपूर सहयोग मिलेगा। स्थायी संपत्ति से संबंधित कार्य बनेंगे। कानून से संबंधित कार्यों में सफलता मिलेगी। भाग्य प्रबल रहेगा जिससे कि कार्यों में सफलता अधिक मिलेगी। घर में धार्मिक वातावरण बना रहेगा। जीवनसाथी से संबंध बहुत अच्छे रहेंगे।

राशि फलादेश कुंभ :-

(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)

आज का दिन शुभ नहीं है। संतान से मतभेद हो सकता है। संतान के भविष्य को लेकर चिंतित रहेंगे। अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें। अधिक क्रोध न करें, ब्लडप्रेशर बढ़ सकता है। ससुराल में किसी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। माता को पेट संबंधी विकार हो सकता है। कार्यक्षेत्र में पहले की तरह कार्य होता रहेगा। नई योजनाएं अभी न बनाएं, समय उचित नहीं है। फिर भी आप अपनी आंतरिक शक्ति की वजह से सभी विपरीत परिस्थितियों से सामंजस्य बैठा सकते हैं। अपने विचार और व्यवहार पर नियंत्रण रखते हुए संघर्ष करके सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

राशि फलादेश मीन :-

(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)

आज का दिन शुभ है। मन प्रसन्न रहेगा एवं आत्मविश्वास बना रहेगा। संतान के लिए शुभ समय है। पारिवारिक वातावरण अच्छा रहेगा। माता की सलाह मानें, क्योंकि माता के विचारों से सफलता प्राप्त होगी। स्थायी संपत्ति से संबंधित कार्य होंगे। सुख-सुविधाओं पर धन खर्च हो सकता है। वैवाहिक जीवन अनुकूल रहेगा। पति-पत्नी के विचारों में समानता रहेगी। भाग्य अनुकूल रहेगा। धन संबंधी कार्य होंगे। धार्मिक क्षेत्र की यात्रा हो सकती है। धर्म-कर्म में मन लगेगा एवं धार्मिक अनुष्ठान संपन्न कराने का अवसर प्राप्त होगा। कार्यक्षेत्र में स्थिरता बनी रहेगी। पहले की योजनाओं से व्यवसाय में लाभ प्राप्त होता रहेगा।

आज मंगलवार है अपने नजदीक के मंदिर में संध्या 7 बजे सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में अवश्य सम्मिलित होवें |

।। शुभम भवतु ।।

भारत माता की जय

पं.सुनील दत्त ज्योतिषी लाडवा ( कुरूक्षेत्र )