कैंसर, कब्ज और नींद की कमी को दूर करेगी केले से छिलके की चाय, जानें विधि

352

केला एक ऐसा फल है, जो विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों से युक्त होता है। अगर हम आपसे पूछें कि आप केले के छिलकों का क्या करते हैं तो आप यकीनन जवाब देंगे कि आप उन्हें डस्टबिन में फेंक देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि केले की तरह ही उसके छिलके में भी बहुत अधिक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिन्हें आप यूं ही डस्टबिन में फेंक देते हैं।

आमतौर पर केले का छिलका स्वाद में कड़वा होता है और इसलिए उन्हें खाना आपके लिए शायद कठिन हो। लेकिन अगर आप चाहें तो केले के छिलकों से चाय तैयार करके उसका सेवन कर सकते हैं। यह पीने में भी स्वादिष्ट होती है और इससे आपको वह सभी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं, जिन्हें आप अब तक कूड़े में फेंक देते हैं।

आपने शायद पहले कभी केले के छिलके की चाय के बारे में नहीं सुना होगा। नई-नई और खतरनाक बीमारियों के आ जाने से आजकल लोग अपनी हेल्थ को ज्यादा महत्व देने लगे हैं। इसी के साथ तमाम तरह के वैज्ञानिक शोध होते रहते हैं, जिनमें बेहतर जिंदगी के लिए चीजों के अलग-अलग फायदे खोजे जाते हैं। ऐसे ही एक शोध में पाया गया कि केले के छिलका भी उतना ही फायदेमंद है, जितना की केला। आइए आपको बताते हैं कि क्या है केले के छिलके के फायदे और कैसे बनाएं इसे।

क्यों फायदेमंद है केले का छिलका :-

केले के छिलके में भी केले के गूदे की तरह ही पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होती है। इसके अलावा केले के छिलके में विटामिन बी-6 और विटामिन बी-12 की मात्रा भरपूर होती है। केले के छिलके में मैग्नीशियम, पोटैशियम, कई प्रोटीन और फाइबर भी होते हैं। इसलिए केले का छिलका भी केले जैसा ही फायदेमंद होता है। केले के छिलके में ल्यूटेनिन होता है, जो एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट होता है। ये आंखों को फ्री-रेडिकल्स से बचाता है।

केले के छिलके की चाय बनाने के लिए सामग्री :-

पके केले के छिलके

दालचीनी की टुकड़ा

मिठास के लिए एक चम्मच शहद

कैसे बनाएं केले के छिलके की चाय :-

केले के छिलके की चाय बनाने के लिए आपको ऐसे केले चाहिए, जो पके हुए हों। पके हुए केले के छिलके अपेक्षाकृत मीठे होते हैं और गले होते हैं। इनमें पोटैशियम की मात्रा भी ज्यादा होती है। सबसे पहले केले के छिलकों को धोकर रख लें।

अब एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें छिलकों को डाल दें। पानी में छिलकों को 5-7 मिनट तक मीडियम आंच में उबालें। इसमें एक टुकड़ा दालचीनी डाल दें गैस बंद कर दें। अब 3 मिनट तक इसे ढक कर रखें। इसे छानकर इसमें शहद मिला लें और पिएं।

केले के छिलके की चाय के हैं कई फायदे :-

केले की चाय पीने से आपके शरीर को बहुत ही अद्भुत फायदे होते हैं। खासतौर से यह कैंसर के रिस्क को काफी हद तक कम करने में मदद करता है। दरअसल, इसमें एंटीकिरिनोजेनिक, कंपाउड के साथ-साथ साइप्रोटेक्टिव और एंटीमेटेजेनिक गुण पाए जाते हैं जो कैंसर के रिस्क को कम करता है। इसके अतिरिक्त इसमें पाइफ्लेओलॉल्स और कैरोटीनोइड जैसे पाइटोकेमिकल्स भी पाए जाते हैं, यह ऐसे एंटीऑक्सिडेंट हैं जो कैंसर से लड़ने में आपकी मदद करते हैं।

इसके अतिरिक्त केले के छिलके में ट्राइटटोपान पाया जाता है जो सेरोटोनिन और डोपामाइन नामक हैप्पी हार्मोन का स्तर बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए अगर आप केले के छिलके को अपने आहार का हिस्सा बनाते हैं तो इससे आपका मूड हमेशा अच्छा रहता है और आपके अवसादग्रस्त होने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है।

वहीं केले के छिलके का सेवन आपको अनिद्रा की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। जैसा कि हम आपको बता चुके हैं कि केले के छिलके में मौजूद ट्राइटटोपान शरीर में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाता है और यही सेरोटोनिन आपकी नींद के पैटर्न को प्रभावित करता है। इसके अतिरिक्त केले के छिलके में पोटेशियम और मैग्नीशियम भी पाया जाता है और यह सभी पोषक तत्वों आपको एक क्वालिटी स्लीप दिलाने में मदद करते हैं।

केले के छिलकों से बनी ये आयुर्वेदिक चाय बहुत गुणकारी होती है। इसे रेगुलर पीने से आपको कब्ज में राहत मिलती है। पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होने से ये ब्लड प्रेशर को कम करती है और दिल की बीमारियों के खतरे को कम करती है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।