सावधान! कहीं कपड़े चेंज करते हुए कोई देख तो नही रहा? ऐसे करें चेक

528

आजकल चेंजिंग रूम, होटल और यहां तक की बाथरुम तक में कैमरा छिपा होने की वारदातें आम हो गई है। ऐसे में अगर आप भी कहीं बाहर घूमने का प्लान बना रहे हैं तो ठहरने के लिए जिस होटल को बुक कर रहे हैं, उसके कमरे पर एक बार अच्छी तरह नजर दौड़ा लें,कहीं कोई हिडन कैमरा आपकी प्राइवेसी के साथ खिलवाड़ न कर रहा हो।

कभी किसी शॉपिंग मॉल के चेंजिंग रूम में तो कभी किसी पब्लिक टॉयलेट या फिर होटल के वॉश रूम में महिलाओं के नहाते और कपड़े बदलते वीडियो की खबरें अब आम बात हो गई हैं। लेकिन थोड़ी-सी सावधानी रखकर ऐसी घटनाओं से बचा जा सकता है। खुफिया कैमरे के अलावा कई बार इन जगहों पर ऐसे शीशे लगे होते हैं, जिनके आर-पार देखा जा सकता है। इसे टू-वे मिरर कहते हैं। देखने में तो ये नॉर्मल ही लगते हैं, लेकिन दूसरी तरफ से कोई आपको देख सकता है।

आपने कई बार होटलों, ट्रायल रूम और बाथरूम में हिडेन कैमरा होने की खबरें सुनी होंगी। कई कपल के प्राईवेट मूमेंट इन हिडेन कैमरों से ही केप्‍चर किये जाते हैं। ट्रायल रूम में कैमरे लगा कर एमएमएस बनाये जाते हैं। ऐसे में हम आप को आज हिडेन कैमरा से बचने के लिए कुछ उपाय बताने जा रहे हैं जिन्‍हे अपना कर आप हिडेन कैमरे से आसानी से बच सकते हैं।

कुछ सिंपल टिप्स बताते हैं जिनकी मदद से आप पता लगा सकेंगे कि कमरे में कोई कैमरा छिपा है या नहीं :-

1-मिरर में हिडेन कैमरा चेक करने के लिए सबसे पहले मिरर पर एक उंगली रखें। अगर शीशे पर रखी गई उंगली और शीशे में दिख रही उंगली के बीच में गैप रहता है तो इसका मतलब ये ऑरिजनल शीशा है। लेकिन अगर शीशे पर रखी गई उंगली के बीच में कोई गैप नहीं रहता है और वे जुड़ी रहती हैं तो मतलब शीशे के पीछे सब कुछ दिख रहा है और हो सकता है वहां पर कैमरा लगा हो जो सब रिकॉर्ड कर रहा हो।

2-रूम में अगर कहीं से कोई आवाज आ रही है तो उसे ध्‍यान से सुनें। क्‍योंकि कुछ हिडेन कैमरे मोशन सेंसिटिव होते हैं जो एक्टिविटी होने पर अपने आप ऑन हो जाते हैं। आवाज सुन कर इन्‍हें पकड़ जा सकता है।

3-जहां भी कैमरा लगा होता है और वो रिकॉर्डिंग कर रहा होता है तो वहां फोन का नेटवर्क गायब हो जाता है। ट्रायल रूम या बाथरूम में भी जाते समय आप मोबाइल का नेटवर्क चेक कर सकते हैं। अगर आप के फोन से कॉल नही लगती है तो हो सकता है कि रूम में हिडेन कैमरा लगा हो।

4-जब भी किसी अपरिचित या होटल के रूम में जायें तो वहां एक बार रूम की सारी लाइट बंद कर जरूर चेक करें। कहीं कोई रेड लाइट या ग्रीन लाइट तो नही जल रही है। अगर कोई भी रेड या ग्रीन लाइट की रौशनी मिले तो समझ जाना चाहिए कि रूम में हिडेन कैमरा छिपा हुआ है।

5-कभी भी ट्रायल रूम में कपड़े चेंज करते समय इस बात पर जरूर ध्‍यान देना चाहिए कि कहीं रूम के हुक या हैंडल में कोई हिडेन कैमरा तो नहीं छुपा हुआ है। अक्‍सर कमरे के कोने और टॉप पर चेक कर के छोड़ दिया जाता है पर इन जगहो पर ध्‍यान नही जाता है।

6-अगर आप को अक्‍सर हिडेन कैमरा होने का शक रहता है तो आप बग डिटेक्‍टर और हिडेन कैमरा डिटेक्‍टर अपने पास रख सकते हैं। ये डिटेक्‍टर कहीं भी छुपे हुए कैमरे को ढूंढने में माहिर है। ये डिवसइस रूम में छिपे हुए हिडेन कैमरे होने पर आप को सतर्क कर देगी।

7-आप अपने स्‍मार्टफोन से भी हिडेन कैमरा ढूंढ सकते हैं। इसके लिए आप को अपने फोन में हिडेन कैमरा फाइंडर एप डाउनलोड करनी होगी। अगर कहीं भी हिडेन कैमरा छिपा हुआ है तो आप फोन को वहां घुमाईये और अगर लाल रंग का निशान ब्लिंक करता है तो समझ जाईये कि हिडेन कैमरा छुपा हुआ है।

8-रूम के दरवाजे पर ध्यान दें- अगर कमरे के दरवाजे में नीचे की ओर थोड़ा स्पेस है तो ध्यान रखें कि कहीं कोई नीचे से आपकी फोटो तो नहीं खींच रहा या फिर वीडियो रिकॉर्डिंग तो नहीं बनाई जा रही।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।