शपथ लेने से पहले कुमार स्वामी का कांग्रेस को दो टूक, कहा मैं साफ़ कर देता हूँ कि कांग्रेस के विधायक अब…

1571

कर्नाटक राज्य से आये विधानसभा चुनाव के नतीजों ने पूरे देश की राजनीति में हाहाकार मचा दिया था। राज्य की सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते येदुरप्पा ने सीएम पद की शपथ ली थी जिसके बाद कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में सरकार बनाने को लेकर याचिका दायर की थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद येदुरप्पा ने फ्लोर टेस्ट की हामी भरी लेकिन उन्होंने इससे पहले ही अपना इस्तीफ़ा पेश कर दिया।

जिसके बाद जेडीएस के कुमारस्वामी का मुख्यमंत्री पद का रास्ता पूरी तरह साफ़ हो गया। अब कुमार स्वामी 23 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।जानकारी के लिए बता दें कुमार स्वामी शपथ से पहले राहुल और सोनिया गाँधी से मुलाक़ात करने जा सकते हैं। वह सोनिया गाँधी से मिलकर गठबंधन को लेकर चर्चा भी कर सकते हैं।

येदुरप्पा के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस और जेडीएस के मंत्रियों के बनने को लेकर मनमुटाव की खबरें आ रही थी। जिससे यह कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों के बीच सरकार बनाने को लेकर ज्यादा समय तक नहीं बन पाएगी? अब कुमार स्वामी ने कांग्रेस के विधायकों को लेकर बड़ा बयान दिया है जिसे जानने के बाद राहुल गाँधी के लिए सदमा लग सकता है।

अब कुमारस्वामी का कहना है कि सरकार कांग्रेस-जेडीएस की सहमती से ही चलेगी। इसी के साथ उन्होंने साफ़ कर दिया है कि हमारी जिम्मेदारी बस जेडीएस के विधायकों को संभालने की है नाकि कांग्रेस के। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस अपने विधायकों की जिम्मेदारी कांग्रेस नेताओं को दे। कांग्रेस नेताओं को अपने विधायकों पर नजर रखनी होगी, हमारी इसमें कोई जिम्मेदारी नहीं है। इससे यह साफ़ होता है कि कुमार स्वामी के अंदर भी विधायकों के टूटने का डर बना हुआ है। उन्हें लगता है कि कांग्रेस विधायक बीजेपी के खेमे में जा सकते हैं, जिसके चलते उन्होंने यह बात कही है। 

इसी के साथ कुमार स्वामी ने ये भी कहा है कि जो नेता चुनाव से पहले कांग्रेस में चले गये थे और अब वह चुनाव जीतकर आये हैं। उनकी देखभाल भी अब से कांग्रेस को ही करनी है। भले ही वो विधायक सरकार का हिस्सा होंगे लेकिन उन्हें सँभालने का काम कांग्रेस का ही होगा। जहाँ अब तक मंत्रियों को लेकर इनके बीच मनमुटाव की खबरें आ रही थी।

अब उसका भी रास्ता साफ़ हो गया है”20-13 के फोर्मुले पर सहमती हो गयी है। कुमार स्वामी का शपथ ग्रहण समारोह बुधवार को होगा। जिसमें कांग्रेस की तरफ से 20 मंत्री होंगे और 13 विधायक जेडीएस के मंत्री होंगे। कुमार स्वामी खुद वित्त मंत्रालय का कार्यभार भी संभालेंगे। लेकिन इसी बीच उनके इस बयान ने लोगों के बहम को भी दूर कर दिया है। उन्होंने जो अपने-अपने विधायक संभालने की बात कही है, उसे देख लोगों का कहना है कि ये सरकार आखिर कब तक ?