खाना जल्दी हजम करने, एसीडिटी, गैस और कब्ज से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय

2405

पाचन तंत्र हमारे शरीर का इम्पोर्टेन्ट पार्ट है। यह हमारे भोजन को पचाता हैं और उससे मिले नुट्रिएंट्स शरीर को प्रोवाइड करता है। इसलिए पाचन तंत्र का हमेशा सही रहना जरूरी होता है। सुबह पेट अच्छे से साफ़ होना, हेल्थी होने की सबसे बड़ी निशानी होती है। कब्ज़ से सिर्फ बूढ़े ही नहीं बल्कि जवान भी परेशान रहते है। नींद न पूरी होन, टेन्शन, नशीली दवाएं और स्मोकिंग भी कब्ज़ की वजह है।

पाचन तंत्र को स्ट्रोंग करने के उपाय :-

समय पर खाना खाये :-

अच्छे पाचन के लिए रोज समय पर खाना खाये। रोज नियमित समय पर खाना खाने से पाचन तंत्र पर अच्छा असर पड़ता हैं और एसिड भी नहीं बनता हैं।

खाने में फाइबर को शामिल करे :-

चेर्री, अँगूर, साबुत अनाज और बादाम जैसे फाइबर से भरे हुए खाद्य पदार्थ को अपने खाने में शामिल करे। इन खाद्य पदार्थो को अपने भोजन में शामिल करने से आपका हाजमा दुरुस्त रहेगा ।

रोज दही खाये :-

रोज एक कटोरी दही खाये । दही में प्रोबिओटिक होते है, जो पाचन को अच्छा रखते है। पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए दही का सेवन करना बहुत ही फ़ायदेमंद होता है।

खूब सारा पानी पिए :-

दिन भर में खूब सारा पानी पीना भी पाचन की परेशानी से बचने का अच्छा उपाय है। रोज 8-10 गिलास पानी पीए, इससे कब्ज़ की परेशानी में राहत मिलती हैं और digestive सिस्टम भी ठीक से काम करता है।

नींबू पानी पिए :-

अगर आपको सुबह गर्म पानी पीना पसंद नहीं है, तो एक गिलास में निम्बू का रस निचोड़ कर उसे पीए। इससे आपके पेट में बन रहा एसिड कम हो जायेगा और आपका पेट भी साफ़ रहेगा ।

देर रात को खाने से बचे :-

हमारा पाचन तंत्र शाम को धीमा हो जाता है। जिससे हमारे पेट में पाचन रसायन बनाने लगता है, इसलिए देर रात को खाने से हमारा पाचन बिगड़ जाता हैं।

गर्म पानी पिए :-

भोजन पचने में परेशानी हो रही हो तो गर्म पानी पीए। सुबह गर्म पानी पीना चाहिए और भोजन से कम से कम 30 मिनट्स पहले पानी पीने से पाचन तंत्र ठीक रहता है।

 टेंशन कम करे :-

लगातार पाचन समस्याओं की वजह तनाव हो सकता है। टेंशन आपके हाजमे पर बहुत बुरा असर डालता है। इसलिए योग, मैडिटेशन जैसे एक्सरसाइज की प्रक्टिसे करके आप टेंशन को कंट्रोल करे।

विटामिन सी से भरपूर चीज़े खाये :-

टमातार, कीवी और स्ट्रॉबेरी जैसे विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन करे। विटामिन सी से भरे हुए फल और सब्ज़िया खाये ।

मयूरासन :-

खाने के बाद पेट भारी हो जाना, एसीडिटी, गैस की समस्या या लगातार कब्ज का बने रहना ये सभी पेट से जुड़ी ऐसी समस्याएं हैं जो आमतौर पर देखी जाती हैं। लेकिन इन छोटी समस्याओं को जड़ से मिटाना जरुरी है क्योंकि ये आगे चलकर किसी बड़ी बीमारी का भी कारण बन सकती है। इन समस्याओं को खत्म करने के लिए किसी औषधी की बजाए योगासन अधिक कारगर है।

विधि :-

जमीन पर घुटने टिकाकर बैठ जायें। दोनों हाथ की हथेलियों को जमीन पर इस प्रकार रखें कि सब अंगुलियाँ पैर की दिशा में हों और परस्पर लगी रहें। दोनों कुहनियों को मोड़कर पेट के कोमल भाग पर, नाभि के इर्दगिर्द रखें। अब आगे झुककर दोनों पैर को पीछे की लम्बे करें।

श्वास बाहर निकाल कर दोनों पैर को जमीन से ऊपर उठाएं और सिर का भाग नीचे झुकाएं। इस प्रकार पूरा शरीर जमीन के बराबर समानान्तर रहे ऐसी स्थिति बनाएं। संपूर्ण शरीर का वजन केवल दो हथेलियों पर ही रहेगा। जितना समय रह सकें उतना समय इस स्थिति में रहकर फिर मूल स्थिति में आ जायें। इस प्रकार दो-तीन बार करें।

लाभ :-

-इसके अभ्यास से हाथ, पैर व कंधे की मांसपेशियां शक्तिशाली बनती है।

-इस आसन से अपच, कब्ज व गैस की शिकायतें दूर होती है।

-पाचनशक्ति को ठीक करता है तथा भूख को बढ़ाता है। यह आंखों के रोगों को दूर करता है।

-इस आसन को रोजाना करने से शरीर में गरिष्ठ भोजन भी आसानी से पचाने का क्षमता बढ़ती है।

-मधुमेह, पेट के रोग, अफरा, पेट का दर्द, गैस आदि को दूर करता है। यह चेहरे के मुहांसे आदि त्वचा के रोग को खत्म कर चेहरे को लाली प्रदान कर सुन्दर बनाता है।

-इस आसन से जिगर, तिल्ली, अमाशय, गुर्दे आदि को शक्ति मिलती है।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-