सर्वाइकल पेन यानि गर्दन दर्द से निजात पाने का रामबाण घरेलू नुस्खा

2056

हमारी लाइफस्टाइल से लेकर बॉडी पोश्चर तक सबकुछ हमारे शरीर को प्रभावित करता है। आजकल की जीवनशैली में ऑफिस से लेकर घर तक, ज्यादातर लोग दिनभर कुर्सी पर बैठे रहते हैं। कुछ लोगों का कुर्सी और सोफे पर बैठने का तरीका भी अजीब होता है। ये छोटी-छोटी आदतें कई बार गंभीर रोगों को बुलावा दे देती हैं, जिसका हमें पता भी नहीं चलता।

दिन भर बैठे रहने से, कुर्सी या सोफे पर आड़े-टेढ़े बैठने से, सीधा न चलने से और कम शारीरिक मेहनत की वजह से कई बार हमारी कमर, गर्दन और रीढ़ की हड्डियां प्रभावित होती हैं और इनमें दर्द शुरू हो जाता है। ऐसा ही एक पेन है सर्वाइकल पेन यानि गर्दन का दर्द, जिससे आजकल बुजुर्गों के साथ-साथ छोटे बच्चे भी प्रभावित हो रहे हैं।

गर्दन से शुरू हुआ ये दर्द इग्नोर करते रहने से या दर्द की सामान्य दवाओं के सहारे टाल देने से धीरे-धीरे बढ़ता जाता है। गर्दन के बाद ये दर्द कमर और पैरों तक पहुंच जाता है। दर्द ज्यादा हो तो डॉक्टर की सलाह जरूरी है। इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खों से भी सर्वाइकल पेन में राहत मिलती है।

हल्दी :-

हल्दी में कई औषधीय तत्व होते हैं। ये एक नैचुरल पेन किलर है और ये सूजन को भी कम करती है। हल्दी ब्लड सर्कुलेशन को तेज करती है इसलिए इसके सेवन से दर्द में राहत मिलती है और इससे गर्दन की अकड़ भी कम होती है।

अगर आपको सर्वाइकल पेन है तो एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी डालकर उबाल लें। इसके बाद इसे ठंडा करके इसमें एक चम्मच शहद मिला लें। इसे रोज दिन में दो बार पीने से गर्दन के साथ-साथ शरीर के किसी भी दर्द में राहत मिलती है।

तिल :-

तिल काफी पौष्टिक होता है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक, फॉस्फोरस, विटामिन डी और विटामिन के पाया जाता है इसलिए हड्डियों के साथ-साथ तिल पूरे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। सर्वाइकल पेन से निजात पाने के लिए तिल के तेल को गुनगुना करके इससे रोज दिन में दो बार मालिश करें।

तिल का सेवन करने से भी इस दर्द में लाभ मिलता है। इसके लिए भुने हुए तिल को गुड़ की चाशनी में मिलाकर लड्डू बनाकर खाएं। इसके अलावा आप भुने हुए तिल को गर्म दूध में डालकर रोज पी सकते हैं।

लहसुन :-

लहसुन के औषधीय गुणों के कारण ये दर्द, सूजन और जलन को कम करता है। सर्वाइकल पेन में भी लहसुन के इस्तेमाल से राहत मिल सकती है। इसके लिए सरसों, तिल या अरंडी के तेल में लहसुन की तीन चार कलियों को काटकर डाल दें और भून लें। भुनने के बाद इस तेल से लहसुन निकालकर खा सकते हैं।

लहसुन के साथ पके इस तेल से दर्द वाली जगह पर मालिश करने से दर्द में राहत मिलती है। इसके अलावा सुबह खाली पेट लहसुन की दो कली गुनगने पानी के साथ खाएंगे तो आपको सर्वाइकल पेन नहीं होगा, पेट साफ रहेगा और मोटापा तेजी से घटेगा।

गर्दन की सिंकाई :-

दर्द से तुरंत राहत पाने का सबसे अच्छा तरीका प्रभावित जगह की सिंकाई करना है। गर्दन में दर्द की वजह से कई बार सूजन भी आ जाती है। ऐसे में एक लीटर पानी में आधा चम्मच नमक मिलाकर उबाल लें। गुनगुना हो जाने पर इस पानी को बोतल में भरकर प्रभावित जगह पर सिंकाई करें या इस पानी में तौलिया भिगाकर तौलिये से ही सिंकाई करें। इससे गर्दन का दर्द, जलन और सूजन चला जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।