कश्मीरी जीरे के सेवन से इन बीमारियों में होता है फायदा

293

जीरे के बारे में तो आप जानते ही होंगे, बिना जीरे का छौंक लगाएं सब्‍जी का स्‍वाद अधूरा लगता है। लेकिन आज हम आपको कश्‍मीरी जीरे के बारे में बता रहे हैं। जी हां दिखने में जीरे जैसा लेकिन स्‍वाद में कड़वा और महक में काफी तीखा होता है। कश्‍मीरी जीरे में एंटीऑक्सीडेंट की अधिक मात्रा कैंसर जैसे रोगों से आपका बचाव करती है।

इसके अलावा इसके सेवन से दांत दर्द और हेपेटाइटिस जैसे रोगों में भी आराम मिलता है। बीमारियों से बचने के लिए आप इसका सेवन शहद में मिलाकर या पानी या दूध में उबालकर ले सकते है। आइए जानें कश्‍मीरी जीरा हमारी सेहत के लिए कैसे फायदेमंद होता है।

दांत दर्द :-

कश्‍मीरी जीरे में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण दर्द में तुरंत आराम पहुंचाते हैं और मसूड़ों में होने वाले इंफेक्‍शन को दूर करता है। इसलिए अगर आप दांतों में दर्द के कारण अक्‍सर परेशान रहते हैं तो कश्‍मीरी जीरे के तेल से रोजाना कुल्‍ला करें।

इम्‍यूनिटी बढ़ाएं :-

बीमारियों से बचने के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बेहद जरूरी होता है और कश्मीरी जीरे में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल गुण किसी भी तरह के इन्फेक्शन से आपका बचाव करते हैं। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काले जीरे के तेल में शहद और दालचीनी मिलाकर उसका नियमित सेवन करें।

डायबिटीज करें कंट्रोल :-

कश्‍मीरी जीरे के सेवन से सीरम ग्लूकोज की बढ़ी हुई मात्रा कम होने लगती है और इससे डायबिटीज नियंत्रण में रहता है। रिसर्च के अनुसार काले जीरे का सेवन खासतौर पर टाइप -1 और टाइप-2 डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

कब्ज से राहत :-

कश्‍मीरी जीरे के सेवन से आपकी आंतें और भोजन नली अच्‍छे से साफ होती है, इसके कारण पूरा पाचन तंत्र बेहतर होने लगता है। इसलिए अगर आप भी कब्ज, गैस या पेट फूलने की समस्या से परेशान रहते हैं तो इसका सेवन नियमित रूप से करें।

जीरे के अन्य फायदे :-

1-पेट और पाचन क्रिया के लिए जीरा बहुत अच्छा होता है। पेट दर्द, अपच, डायरिया, मॉर्निंग सिकनेस में इसका सेवन जरूर करना चाहिए। एक गिलास पानी में एक छोटा चम्मच भुने जीरे का पाउडर मिलाकर पिएं। छाछ में भुना जीरा और काली मिर्च डालकर पीने से पेट संबंधी कई समस्याएं नहीं होतीं।

2-छोटी आंत में गैस हो जाने से पेट दर्द होने पर एक गिलास पानी में एक चुटकी भुना जीरा पाउडर, थोड़ी अदरक, सेंधा नमक और आधी छोटी चम्मच सौंफ डालकर उबाल लें। छानकर ठंडा होने पर पिएं। यह अर्क पीरियड्स में होने वाले दर्द, कब्ज जैसी तकलीफों में भी आराम देता है।

3-छोटे बच्चों को पेट में दर्द हो तो गर्म पानी में जीरा उबाल कर ठंडा कर लें और बच्चे को पिलाएं। जल्द आराम मिलेगा।

4-अनीमिया खासतौर पर महिलाओं की सेहत पर असर डालता है। यह समस्या हो तो खाने में जीरे का सेवन नियमित तौर पर करें। इसमें मौजूद आयरन अनीमिया को दूर करने के साथ ही थकान और तनाव को भी कम करेगा।

5-आयरन और कैल्श‍ियम से भरपूर होने की वजह से यह गर्भवती और हाल ही में मां बनी महिलाओं के लिए बहुत अच्छा है। एक गिलास गर्म दूध में एक छोटी चम्मच जीरा और स्वाद के लिए शहद मिलाकर पीने से ताकत मिलती है।

6-जीरे का सेवन वजन कम करने में भी मददगार है। यह बॉडी से फैट और कॉलेस्ट्रोल कम करता है। दही के साथ मिलाकर इसका सेवन करें।

7-जीरे में मौजूद कैल्शियम हड्ड‍ियों को मजबूत करता है। इसमें मौजूद विटामिन ए और बी12 भी ऑस्ट‍ियोपोरोसिस से लड़ने में मदद करते हैं।

8-जिन लोगों को नींद नहीं आती उनके लिए भी जीरा फायदेमंद है। एक पके केले को मसल लें और उसमें भुना जीरा डालकर खाएं। इससे नींद अच्छी आएगी।

9-जीरे को यादाश्त बढ़ाने में भी फायदेमंद माना जाता है। एंटी-ऑक्स‍िडेंट होने की वजह से ऐसा होता है। इसलिए रोजाना आधी छोटी चम्मच जीरे की जरूर चबाएं।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।