सर्दियों में लहसुन है वरदान, जानें रोज खाने के 7 जबरदस्त फायदे

690

खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ लहसुन का प्रयोग सर्दी-जुकाम के घरेलू नुस्खे के रूप में किया जाता है। मगर लहसुन कई अन्य रोगों में बहुत फायदेमंद होता है। लहसुन की तासीर गर्म होती है इसलिए सर्दियों में इसका प्रयोग बहुत फायदेमंद होता है।

लहसुन पाचन के लिए फायदेमंद होता है इसलिए खाने में इसका प्रयोग रोजाना करना चाहिए। अगर आप रोजाना लहसुन का प्रयोग करते हैं, तो आपको कई जबरदस्त लाभ मिलते हैं।

प्राकृतिक एंटीबायोटिक है लहसुन :-

लहसुन में प्राकृतिक रूप से एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं। लहसुन आपको हर प्रकार के इंफेक्शन से बचाता है और अंदरूनी सूजन और दर्द को कम करता है। लहसुन भोजन को विषाक्त बनाने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में कारगर है।

रोज भोजन में इस्तेमाल किया जाने वाला लहसुन एंटीबॉयोटिक दवाओं से भी ज्यादा असरदार होता है। लहसुन में एलियम नामक एंटीबॉयोटिक होता है जो बहुत से रोगों से बचाव में मदद करता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए लहसुन :-

लहसुन में प्रोटीन होते हैं जो विभिन्न बीमारियों से निपटने वाले एंटीबॉडी बनाने में मदद करते हैं। यह सर्दी, खांसी, और यहां तक कि अधिक गंभीर लोगों जैसी बीमारियों के होने का जोखिम भी कम कर देता है।

इसके अलावा जिन लोगों का खून गाढ़ा होता है लहसुन उनके लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह शरीर में रक्‍त प्रवाह सुचारू बनाए रखता है। खून का पतला करता है जिससे आप कई संभावित रोगों से बचे रहते हैं।

दिल की बीमारियों से बचाता है लहसुन :-

लहसुन आपके शरीर में बैड कोलेस्‍ट्रोल का स्‍तर कम करता है। इससे आपका दिल हमेशा सेहतमंद रहता है। लहसुन शरीर में गुड कोलेस्‍ट्रोल के स्‍तर को बढ़ाने का भी काम करता है। उच्‍च रक्‍तचाप को दूर करने में भी लहसुन काफी फायदेमंद होता है।

हाई बीपी के मरीज अगर रोज लहसुन का सेवन करें तो इससे उनका बीपी नॉर्मल रखने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद एलिसिन नामक तत्व हाई बीपी को सामान्य करने में मददगार है।

दांत दर्द में फायदेमंद लहसुन :-

लहसुन में एंटी बैक्‍टीरियल तत्‍व होते है जो दांत पर सीधा प्रभाव डालते है। लहसुन दांतों के दर्द से भी राहत दिलाने का काम करता है। लहसुन को लौंग के साथ पीसकर दांतों के दर्द वाले हिस्से पर लगाने से दर्द से तुरंत राहत मिलती है।

प्रेग्नेंसी में फायदेमंद है लहसुन :-

प्रेग्‍नेंसी के दौरान लहसुन का नियमित सेवन मां और शिशु, दोनों के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। यह गर्भ के भीतर शिशु के वजन को बढ़ाने में सहायक है। गर्भवती महिलाओं को लहसुन का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए।

गर्भवती महिला को अगर उच्च रक्तचाप की शिकायत हो तो, उसे पूरी गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी रूप में लहसुन का सेवन करना चाहिए। यह रक्तचाप को नियंत्रित रख कर शिशु को नुकसान से बचाता है। उससे भावी शिशु का वजन भी बढ़ता है और समय पूर्व प्रसव का खतरा भी कम होता है।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे लहसुन :-

लहसुन में उच्च रक्तचाप की समस्या दूर करने के भी गुण होते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है उन्हें खाली पेट लहसुन का सेवन करना चाहिए। इससे ब्लड सर्कुलेशल को बढ़ना रुक जाता है। इसके साथ ही लहसुन दिल की सेहत के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

गठिया में भी फायदेमंद लहसुन :-

गठिया और अन्‍य जोड़ों के रोग में भी लहसुन का सेवन बहुत ही लाभदायक है। लहसुन को नियमित रूप से सेवन करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। अगर आपको लहसुन चबाना पसंद नही है। तो ऐसे में आप सुबह उठने के बाद खाली पेट लहसुन की कली को कैपसूल की तरह भी खा सकते हैं।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।