जानिए गन्ने का रस किन लोगों को नहीं पीना चाहिए,और इसके अधिक सेवन के नुकसान

1782

गर्मियों में गन्‍ने का रस पीना सभी को पसंद होता है। गन्‍ने का ठंडा और मीठा जूस गाले में ठंडक का एहसास जगा कर शरीर को पूरी तरह से तरोताजा बना देता है। गर्मी आते ही जगह जगह पर गन्‍ने के जूस की दुकाने लग जाती हैं। बदलते मौसम में गन्‍ने का जूस पीना आपकी सेहत के लिये अच्‍छे से ज्‍यादा नुकसान पहुंचाने का काम भी करता है।

इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नेशियम और फॉस्फोरस जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनसे हड्डि‍यां मजबूत बनती हैं और दांतों की समस्या भी कम होती है। हालांकि गन्ने का रस बहुत जल्दी हानिकारक बैक्टीरिया को अब्जॉर्ब कर लेता है। इसलिए कुछ लोगों को पीने से बचना चाहिए।

जी हां, आपको शायद हमारी बात पर यकीन ना आए मगर इस मौसम में ज्‍यादा गन्‍ने का रस पीना सेहत के लिये बिल्‍कुल भी ठीक नहीं। इसका लगातार सेवन करने से शरीर का वजन बढ़ सकता है। यही नहीं यह शुगर की बीमारी और पेट में कीडे़ पैदा कर सकता है। यदि आप गर्मियों में स्‍वस्‍थ्‍य रहना चाहते हैं तो गन्‍ने का रस बड़ी ही सावधानी के साथ पीएं नहीं तो आपको ऐसे परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

जिन लोगों को ये बीमारी है। उन लोगों को गन्ने का रस पीना हो सकता है खतरनाक।

मोटे लोगों को :-

अगर आपका वजन ज्यादा है तो गन्ने का रस हानिकारक हो सकता है। इसमें बहुत ज्याद कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं। इससे मोटापा बढ़ सकता है।

डायबिटीज होने पर :-

अगर आपको शुगर है या ब्ल़ड शुगर है तो गन्ने का रस पीने को अवॉइड करें। इससे ब्लड इंफेक्शन होने पर प्रॉब्लम बढ़ सकती है।

कफ होने पर :-
अगर आपको साँस लेने, कफ और सर्दी की समस्या हो तो आपको गन्ने का रस नहीं पीना चाहिए, क्योंकि इससे आपका कफ ज्यादा बढ़ सकता है और आपको साँस लेने में ज्यादा तकलीफ हो सकती है।

दस्त आने पर :-
अगर आपका पेट खराब है तो आपको गन्ने का रस अवॉयड करना चाहिए। जी हां क्योंकि इसे पीने से आपको दस्त की समस्या हो सकती है।

कब्ज की दिक्कत :-

जिसको भी एसिडिटी की समस्या है तो बिलकुल गन्ने का रस नहीं पीना चाहिए। इसके इलावा अगर आप एंटीएसिड दवाईयां ले रहे है तो आपको गन्ने का रस अवॉयड करना चाहिए।

और अब जानिए गन्‍ने का जूस ज्‍यादा पीने के नुकसान

खून को बनाता है पतला

यह शरीर में रक्‍त को पतला बनाता है इसलिए यदि आप पहले से ही रक्त को पतला करने वाली दवा ले रहे हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

बलगम या खांसी की समस्‍या

यदि आपको पहले से ही बलगम या खांसी की समस्‍या है तो गन्‍ने का जूस पीना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिये ठीक नहीं है। इसको ज्‍यादा पीने से यह समस्‍या काफी ज्‍यादा बढ़ सकती है।

पाचन तंत्र को पहुंचाता है नुकसान

गन्ने के रस के बारे में शायद आपको यह ना पता हो लेकिन यह रस पंद्रह मिनट के बाद खतरनाक हो जाता है। जिसे पीने से पाचन तंत्र में परेशानी आ सकती है।

वजन बढाए

अगर आपका वजन पहले से ही काफी ज्‍यादा है तो गन्‍ने का जूस उसे और भी बढ़ा सकता है क्‍योंकि इसमें ढेर सारी शुगर के साथ साथ ढेर सारी कैलोरीज भी पाई जाती है।

पेट के कीड़े बढ़ाए

अगर आपके पेट में कीड़े हैं या फिर पेट से जुड़ी कोई अन्य समस्या है तो गन्ने के रस का कतई सेवन न करें।

आगे जानिए इसे पीते समय क्या-क्या सावधानियां रखें 

– गन्ने का रस पीते समय चुटकी भर नमक मिलाएं इससे गले में खरास नहीं होगी

– इसमें बर्फ डालकर ना पिए अगर बर्फ गंदे पानी से बना है तो डीहाइड्रेशन या गला खराब हो सकता है

– गन्ने का रस ताजा ही पिएं, देर तक रखते हुए गन्ने के रस में टोक्सीन्स पैदा होते हैं इससे इन डाइजेशन हो सकता है

– गन्ने के रस से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है जिससे डायबिटीज बढ़ सकती है इसलिए डायबिटीज के मरीजों को गन्ने का रस नहीं पीना चाहिए

– इसे बनाते समय साफ सफाई का ख्याल रखना जरुरी है अगर गन्ने का रस अनहाईजेनिक तरीके से बना है तो इससे पीलिया हो सकता है

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।