जम्मू-कश्मीर में मोदी जी ने किया सबसे लंबी सुरंग का शिलान्यास, बोले- विकास के लिए प्रतिबद्ध

2155

लेह : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को लेह-लद्दाख में सबसे लंबी सुरंग जोजिला टनल के कार्य का उद्घाटन किया और कुशक बकुला रिनपोछे के जन्म शताब्दी उत्सव के समापन कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान मोदी जी मोदी ने कहा कि यह क्षेत्र मेरे लिए नया नहीं है।लेह की धरती पर शायद ही कभी इतना बड़ा कार्यक्रम हुआ हो।संत पुरुष कुशक बकुला रिनपोछे जी के प्रति कितनी श्रद्धा है।

इसका ये उदाहरण है,कुशक बकुला रिनपोछे जी का एक दर्शन था और जीवन भर उसे साकार करने के लिए जुटे रहे।मैं देश का पहला मोदी जी था जिसको मंगोलिया जाने का अवसर मिला। मंगोलिया में बालक से लेकर बुजुर्ग तक को कुशक बकुला रिनपोछे जी के बारे में पता है।उनके दिमाग में भारत यानी कुशक बकुला रिनपोछे जी।यह जानकर मुझे बहुत प्रसन्नता हुई।

मोदी जी ने कहा कि कुशक बकुला रिनपोछे जी ने दुश्मनों के दांत खट्टे कर दिये थे। मुझे रिनपोछे जी को श्रद्धांजलि देने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।आज मुझे जम्मू-कश्मीर के तीनों भू-भाग पर जाने का अवसर मिला है।केंद्र और राज्य सरकार मिलकर विकास को तेजी से आगे बढ़ा रहे हैं।आज 25 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट का शिलान्यास या लोकार्पण होगा।यह सबूत है कि विकास के लिए कितने प्रतिबद्ध हैं।

जोजिला टनल अपने आप में अभूतपूर्व है।14।20 किलोमीटर लंबाई वाली इस टनल को एशिया की सबसे लंबी टनल कहा जा रहा है। इसकी लागत 6809 करोड़ रुपये है। मैंने कई सुझाव दिये हैं। अब 12 महीने कनेक्टिविटी रहेगी। यह बड़ा काम है।भारत सरकार ने 80 हजार करोड़ रुपये का पैकेज दिया है।इससे विकास को गति मिलेगी।

कार्यक्रम में केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि टनल के काम काफी कठिनाई थी। जम्मू-कश्मीर में 50 वर्षों में रोड सेक्टर में जितना कार्य नहीं हुआ उतना 2014 के बाद हुआ है। यहां 30 हजार करोड़ रुपये के काम शुरू हो चुके हैं। मोदी जी ने जम्मू-कश्मीर की जनता को जो आश्वसन दिया था उसे पूरा किया है।

सिर्फ जम्मू-कश्मीर नहीं पूरे देश को टनल मिला है।जोजिला एशिया की सबसे बड़ी टनल है और निर्माण कार्य को पांच साल में पूरा करने का प्रयास होगा। यह मील का पत्थर साबित होगा। इस टनल से हर मौसम में संपर्क बनेगा। यह सामरिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है। टनल में 90 फीसद स्थानीय युवाओं को काम मिलेगा। कारगिल युद्ध के समय इसकी जरूरत महसूस की गई थी। टनल की वजह से साढ़े तीन घंटे की दूरी सिर्फ 15 मिनट में तय की जा सकेगी।

वहीं, जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कुशक बकुला रिनपोछे ने लद्दाख के लोगों के लिए बहुत काम किया है। खासकर शिक्षा के क्षेत्र में।जोजिला टनल से टूरिज्म के साथ-साथ मेलजोल भी बढ़ेगा।अभी हम एक-दूसरे से कटे हैं।उन्होंने मोदी जी से दो दिन लेह में गुजारने की अपील की।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।