ये 1 पत्ती आपके चेहरे को कभी बूढ़ा नहीं होने देगी, जानिए इसकी पहचान और इससे होने वाले फायदे

789

आप सब अमरुद के फायदों के बारें तो जानते होंगे लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की अमरुद के पत्तें भी आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। आपको ये जानकार हैरानी होगी की अमरुद के पत्तों से लाइलाज बीमारियों का भी इलाज़ कर सकते हैं।अमरूद खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि अमरूद की पत्त‍ियां भी कुछ कम नहीं होती हैं।

त्वचा की देखभाल से लेकर बालों की खूबसूरती बनाए रखने तक के लिए अमरूद की पत्त‍ियों का इस्तेमाल किया जाता है। अमरुद की पत्तियों के रस को पीने से पाचन तंत्र ठीक रहता है। दांत दर्द, गले में दर्द, मसूड़ों की बीमारी आदि अमरूद की पत्तियों के रस से दूर होती है। अमरूद के पत्तों पर कत्था लगाकर खाने से मुहं के छाले ठीक होते हैं। अमरुद की पत्तियों को पीस कर पिंपल्स पर लगाने से पिंपल्स ठीक हो जाएंगे।

अमरुद की पत्तियों से कई बिमारिओं का इलाज किया जा सकता है। अमरुद कई औषधीय गुणों से भरपूर फल है। इसकी पत्तियां भी बहुत उपयोगी होती हैं या यूं कहें कि अमरूद के फल से ज्यादा इसकी पत्तियां फायदेमंद है। अमरुद की पतियों के फायदे के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं ये कई बिमारिओं में फायदेमंद होते हैं।

आज हम आपको अमरुद की पतियों के ऐसे फायदे बताएँगे जो आपने कभी सोचे नही होंगे।

मुंहासे (पिंपल्स) मिटाए :-

इन पत्तियों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इसलिए ताजी पत्तियों को पीस कर पिंपल्स पर लगाएं कुछ ही दिनों में पिंपल्स खत्म हो जाएंगे।

बालों की ग्रोथ बढाए :-

अमरूद की पत्तियों में बहुत सारा पोषण और एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो कि बालों की ग्रोथ को बढ़ाता है।

दांतों की समस्या के लिए :-

दांत दर्द, गले में दर्द, मसूड़ों की बीमारी आदि अमरूद की पत्तियों के रस से दूर हो जाती है। अमरूद की पत्तियों को पीस कर पेस्ट बना कर उसे मसूड़ों या दांत पर लगा सकते हैं।

मुंह के छाले :-

अमरूद के पत्तों पर कत्था लगाकर चबाएं। केवल अमरूद के पत्ते चबाने से भी छाले ठीक हो जाते हैं।

सिर में दर्द :-

आधे सिर में दर्द होने पर सूर्योदय के पूर्व ही कच्चे हरे ताजे अमरूद के पत्ते लेकर पत्थर पर घिसकर लेप बनाएं और माथे पर लगाएं।

डायबिटीज रोगियों के लिए :-

एक शोध के अनुसार अमरूद की पत्तियां एल्फा-ग्लूकोसाइडिस एंज़ाइम की क्रिया द्वारा रक्त शर्करा को कम करती है। दूसरी तरफ सुक्रोज़ और लैक्टोज़ को सोखने से शरीर को रोकती है जिससे शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। इसलिए डायबिटीज के रोगियों के लिए अमरूद के पत्तों का चूर्ण लाभदायक होता है।

वजन घटाएं :-

अमरूद की पत्तियां जटिल स्टार्च को शुगर में बदलने से रोकती हैं। जिससे शरीर के वज़न को कम में सहायता मिलती है। यही कारण है कि वजन घटाने के लिए अमरूद की पत्तियों का चूर्ण उपयोग में लाया जाता है।

गठिया दर्द :-

अमरूद के पत्तों को कूटकर, लुगदी बनाएं। इसे गर्म करके गठिया प्रभावित स्थानों पर लगाने से सूजन दूर हो जाएगी।

स्वप्नदोष में लाभ :-

अमरूद के पत्तों को पीसकर उसका रस निकाल लें। इसके बाद रस में स्वादानुसार चीनी मिलाकर रोजाना सेवन करें। स्वप्नदोष की बीमारी में लाभ होगा

ल्यूकोरिया में लाभ :-

अमरूद की ताजी पत्तियों का रस 10 से 20 मिलीलीटर तक रोजाना सुबह-शाम पीने से ल्यूकोरिया नामक बीमारी में अप्रत्याशित लाभ होता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करें :-

अमरूद की पत्तियों का जूस लिवर साफ करने में मदद करता है। यह बीमारी पैदा करने वाले कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है।

डायरिया मिटाए :-

यह पेट की कई बीमारियों को ठीक करने में असरदार है। एक कप खौलते हुए पानी में अमरूद की पत्तियों को डाल कर उबालिए और फिर इस पानी को ठंडा करके छान कर पी लीजिए, डायरिया में लाभ होगा।

पाचन तंत्र ठीक करे :-

अमरूद की पत्तियां या फिर उससे तैयार जूस पी कर आप पाचन तंत्र को ठीक कर सकते हैं। इससे फूड प्वाइजनिंग में भी काफी राहत मिलती है।

डेंगू बुखार :-

डेंगू बुखार में अमरूद की पत्तियों का रस पिएं। यह डेंगू के संक्रमण को दूर करता है।

एलर्जी दूर करे :-

अमरूद की पत्तियों का रस किसी भी प्रकार की एलर्जी को दूर कर सकता है। यह एलर्जी पैदा करने वाली वायरस को ख़तम करता है।

खुजलाहट :-

अमरूद की पत्तियों में एलर्जी अवरोधक गुण पाया जाता है। एलर्जी खुजलाहट का मुख्य कारण है। अत: एलर्जी को कम करने से खुजलाहट अपने आप कम हो जाएगी।

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-