जानिये हाइट बढ़ाने का कामयाब नुस्खा, उम्र चाहे कितनी भी क्यों न हो

483

अच्‍छी हाइट आपके व्‍यक्तित्‍व और सुंदरता में चार-चांद लगाती है। आप चाहे लड़के हो या लड़की, अच्‍छी हाइट आपकी पर्सनैलिटी में निखार लाती है। आप ज्‍यादा आत्‍मविश्‍वास से भरपूर महसूस करते हैं। आमतौर पर लंबाई 18 वर्ष की आयु तक बढ़ सकती है क्योंकि हमारे शरीर में लंबाई बढ़ाने का सबसे प्रभावी ह्यूमन ग्रोथ हार्मोंन यानी एच जी एच होता है। जो पिट्युटरी ग्‍लैंड से निकलता है, इसी से हमारी लंबाई बढ़ती है। लेकिन अगर सही मात्रा में प्रोटीन और उचित मात्रा में आहार नहीं मिलता तो शरीर के विकास की प्रक्रिया रूक जाती है और लंबाई बढ़ना रूक जाती है।

कद हमारी शख्सियत का बहुत खास हिस्सा माना जाता है। जिन लोगों का कद ऊंचा होता है वे न केवल आकर्षक दिखते हैं बल्कि उनके अंदर  अधिक आत्मविश्वास भी होता है। यहां तक कि कई क्षेत्रों में करियर बनाने के लिए ऊंचे कद की जरूरत होती है। इसलिए हर कोई चाहता है कि उसका कद ऊंचा हो। लेकिन कुछ लोगों का कद हार्मोनल, कुपोषण या अन्य दूसरी वजहों के कारण बढ़ नहीं पाता है। आमतौर पर कद 18 साल तक ही बढ़ता है,

लेकिन जैसे ही हम 18 वर्ष की उम्र में पहुंचते हैं यह हार्मोन निकलना कम हो जाते है। जिससे आपकी हाइट बढ़ना रूक जाती है। लेकिन आयुर्वेद में कई ऐसे उपाय है जिनकी मदद से ह्यूमन ग्रोथ हार्मोंन को उत्‍तेजित कर आप 21 साल की उम्र तक लंबाई बढ़ा सकते हैं। आइए एक ऐसे ही आयुर्वेदिक नुस्‍खे के बारे में जानें जिसकी मदद से आप कुछ ही दिनों में 2 से 6 इंच लंबाई बढ़ा सकते हैं।

सामग्री :-

बरगद के पेड़ का फल -50 ग्राम

मिश्री – 50 ग्राम

जीरा- 50 ग्राम

बरगद के पेड़ का फल जिसे गुलर के नाम से भी जाना जाता है आपको आसानी से पंसारी की दुकान में मिल जाएगा और मिश्री और जीरा तो आपकी किचन में हमेशा ही मौजूद रहता है।

बनाने और इस्‍तेमाल की विधि :-

बरगद के पेड़ के फल, मिश्री और जीरा तीनों को एक साथ लेकर मिक्‍सी में अच्‍छे से पीस लें।

अब इसे एक जार में भरकर रख लें।

अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से कम है तो आधा चम्‍मच चूर्ण लेना है।

लेकिन अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से ज्‍यादा है तो इसका एक चम्‍मच आपको दूध के साथ लेना है।

इस उपाय को 40 दिन लेने से आपकी हाइट तो बढ़ेगी ही साथ ही आपका दिमाग भी तेज होगा और आपकी त्‍वचा में भी निखार आयेगा।

अन्‍य उपाय :-

योग :-

ताड़ासन कर शरीर की लम्बाई बड़ाई जा सकती है। छोटे बच्चे और टीनेजर ताड़आसन का नियमित अभ्यास कर अपनी लम्बाई 6 फुट तक भी बढ़ा सकते हैं| ताड़ासन करने के लिए दोनों हाथ ऊपर करके सीधे खड़े हो जायें, फिर गहरी सांस लें, धीरे-धीरे हाथों को ऊपर उठाते जायें और साथ-साथ पैर की एडियां भी उठती रहें। पूरी एड़ी उठाने के बाद शरीर को पूरी तरह से तान दें और फिर गहरी सांस लें। ताड़ासन करने से स्नायु सक्रिय होकर विस्तृत होते हैं। इसी लिए यह कद बढ़ाने में सहायक होता है।

स्वस्थ और पोषक आहार :-

पौष्टिक भोजन में मौजूद विटामिन, प्रोटीन, कैल्शियम, जिंक, मैग्नीशियम और फास्फोरस लम्बाई बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए स्वस्थ और पोषक आहार लें। कार्बोनेटेड पेय, संतृप्त वसा और अधिक चीनी लेने से परहेज करें, क्योंकि ये आपकी लम्बाई पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं। पेय जैसे दूध, जूस तथा गाजर, मछली, चिकन, अंडे, सोयाबीन, दलिया, आलू, बीन्स और हरी सब्जियां अपने भोजन में शामिल करें। साथ ही बादाम और मूंगफली जैसे नट्स तथा सेब और केले जैसे फल भी आपकी लम्बाई बढ़ाने में मददगार होते हैं।

फ्रीक्वेन्ट मील :-

भूखे न रहें। प्राकृतिक तरीके से लम्बाई बढ़ाने के लिए आपको अपने मेटाबॉलिज्म (चयापचय) को की मजबूत बनाने की बहुत आवश्यक होती है। एक दिन में छह भोजन लेकर आप अपने चयापचय को मजबूत बना सकते हैं। बीच-बीच में स्वस्थ भोजन लेने से अपके शरीर में कम वसा एकत्रित होगी और इस प्रकार आप प्राकृतिक रूप से अपनी लम्बाई को बढ़ा पाएंगे।विटामिन ‘डी’ अपकी हड्डियों के विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है, और सूरज की रोशनी विटामिन ‘डी’ का सबसे अच्छा प्राकृतिक स्रोत है। बस तेज धूप में न जाएं, इसका अधिकतम लाभ पाने के लिए सुबह या शाम के समय की धूप में बाहर जाएं और उसका पूरा लाभ लें।

पर्याप्त नींद :-

इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि लम्बाई जीन पर निर्भर करती है। लेकिन इस बात को भी नहीं नकारा जा सकता कि पर्याप्त नींद स्वस्थ जीवनशैली और शरीर की समग्र वृद्धि और विकास के लिए सबसे अच्छा उपाय है। न सोने या कम नींद लेने का प्रतिकूल प्रभाव हमारे पूरे शरीर पर पड़ता है। पर्याप्त नींद यह सुनिश्चित करती है कि आपकी लम्बाई और वजन ठीक रहेंगे। क्योंकि नींद के दौरान शरीर में ऊतकों का विकास और निर्माण होता है। साथ ही पर्याप्त नींद लेने से लम्बाई को नियंत्रण करने वाले हार्मोन की वृद्धि होती है। इसलिए, एक दिन में कम से कम 7 घंटे की नींद लेना जरूरी होता है।

शरीर की उचित मुद्रा :-

अनुचित मुद्रा में रहने से शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। सिर और गर्दन झुकाकर चलने, खड़े रहने से लम्बाई पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। यह न केवल आपकी रीढ़ बाहर की ओर झुका देता है, बल्की लम्बाई को भी कम करता है। उचित आसन में रहने से अपकी मांसपेशियों को आराम मिलता है और लम्बाई बढ़ती है।शराब पीना और धूम्रपान गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनते हैं। धूम्रपान या अल्कोहल लेने वाले व्यक्ति के विकास को और लम्बाई पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए किसी भी प्रकार के नशे से दूर रहें।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352