जानिए आखिर क्यों हमारे हाथ-पैर सो जाते है और इन्हें ठीक करने के उपाय

736

थोड़ी देर अगर हम बैठ जाएँ तो कई बार हमारे हाथ या पैर सो जाते हैं और उनमे झन्नाहट महसूस होती है। जब भी हम कई देर तक किसी एक पोजिशन में बैठे रहते हैं तो हमारे पैर सो जाते हैं और अगर हम ज्यादा देर तक कहीं हाथ टिका कर बैठ जाते हैं तो हमारी बाहों के साथ भी ऐसा ही होता है जबकि जब हम बांह के बल पर सो जाते हैं तो उठने के बाद हाथ और बाहें सो जाने की शिकायत होती है। लेकिन जब हम थोड़ा हिलते डुलते हैं और हाथ पैरों में थोड़ी हरकत करते हैं तो ये वापस ठीक हो जाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की आखिर हमारे हाथ पैर क्यों सो जाते हैं? हमारे हाथ पैर सो जाने के पीछे क्या कारण होता है और क्या ऐसा होना खतरनाक है?

दरअसल हाथ पैरों का सोना एक आम बात है, जब भी हम कई समय तक एक ख़ास पोजीशन में बैठे रहते हैं तो हमारी कुछ नसों पर दबाव पड़ता है और ऐसे में उन अंगों को जैसे हाथ और पैर में पूरी मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुँच पाती और ऐसे में अंग शिथिल हो जाते हैं और जब इसका सन्देश मस्तिष्क तक पहुँचता है तो मस्तिष्क उन अंगों में झनझनाहट पैदा करता है और हमें हाथ पैरों को हरकत में लाने और चहलकदमी करने को मजबूर करता है।

यूँ तो हाथ पैरों का सोना एक आम बात है लेकिन अगर आपके साथ हाथ पैरों का सोना दिन में कई बार होता है और झनझनाहट भी काफी लम्बे समय तक रहती है तो डॉक्टर से इसकी जाँच करें क्योंकि कई बार ऐसा स्लिप डिस्क, मल्टीपल स्क्लेरोसिस या डायबिटीज के कारण भी होता है।

हाथों और पैरों में झनझनाहट होने के कारण और उपाय :-

जो शरीर में विटामिन बी 12 की कमी, शरीर में रक्त कोशिकाओं के सुचारू रूप से कार्य न करने की वजह से, तंत्रिका पर किसी प्रकार की चोट लगने की वजह से या नशीली पदार्थ का सेवन करने के कारण आपको इस तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जब भी आप झनझनाहट की समस्याओं से गुजरते हैं तो आपको ऐसा लगता है कि बस जल्दी से इससे राहत मिल जाए। लेकिन समझ में नहीं आता कि हम क्या करें। आज हम इस समस्या से बचने के लिए कुछ उपाय बताएंगे। जिससे आपके हाथ पैरों में झनझनाहट दूर कर सकते हैं।

हाथों और पैरों की झनझनाहट से बचने के उपाय :-

हल्दी का इस्तेमाल करें :-

हल्दी में एंटी एंफ्लेमेंटरी पर्याप्त मात्रा में होती है। इस गुण के साथ हल्दी में एक तत्व पाया जाता है। जिसे कुरकुर्मीन कहते हैं। इसके कारण आपके पुरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में माद्दा मिलती है,इसके इस्तेमाल के लिए आप एक गिलास दूध में चुटकी भर हल्दी डालकर अच्छे से पकाएं, उसके बाद ठंडा करके इस दूध का सेवन करें साथ ही हल्दी और पानी का पेस्ट बनाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं, आपको झनझनाहट से राहत पाने में मदद मिलेगी।

दालचीनी का इस्तेमाल करें :-

दालचीनी के इस्तेमाल से भी अपने हाथ पैरों में झनझनाहट को दूर कर सकते हैं। क्योंकि इसके सेवन से आपके शरीर में मैग्नीशियम, और पोटैशियम के तत्वों की कमी को पूरा करने में माद्दा मिलने के साथ आपके ब्लड सर्कुलेशन में भी मदद मिलती है, इससे बचने के लिए आपको एक गिलास में दालचीनी पाउडर को उबाल कर उसके गुनगुना रहने तक उसका सेवन करना चाहिए इसके अलावा आप दालचीनी पाउडर के साथ थोड़ा अदरक भी उबाल सकते है, और उसमे एक चम्मच शहद मिलाकर लेते हैं तो भी आपको फायदा होता है।

व्यायाम करें :-

यदि आपके पैरों में भी दर्द एवं झनझनाहट की समस्या बनी रहती है तो, आपको अपने दिनचर्या में व्यायाम को शामिल करने की जरूरत है। क्योंकि व्यायाम करने से न केवल आपका ब्लड सर्कुलेशन सुचारु रूप से चलता है, बल्कि आपकी कोशिकाओं को भी बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिलती है, जिससे आपको इस समस्या से राहत के साथ अपने आप को फिट रखने में भी मदद मिलती है।

गरम सिकाई करें :-

इन समस्याओं से बचने के लिए सिकाई भी सबसे अच्छा और बेहतर उपचार है, इसके लिए आप पानी में नमक और फिटकरी डालकर अच्छे से उबाल लीजिए। उसके बाद एक सूती कपडा लेकर इस पानी में डालकर अच्छे से निचोड़ लें, फिर इस कपडे को प्रभावित हिस्से पर अच्छे से बाँध लें, या फिर पानी के गुनगुना रहने पर अपने हाथों या पैरों को इस पानी में डालकर सिकाई करें आपको राहत जरूर मिलेगी।

विटामिनस बी 12 युक्त खाद्य पदार्थ और हरी सब्जियों, फलों का सेवन भरपूर मात्रा में करना :-

शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने की वजह से भी इन समस्याओं का सामना करना पड़ता है। खासतौर पर जब शरीर में विटामिन बी12 की कमी होती है तो इससे बचने के लिए आपको दूध, दही, चीज, पनीर, मक्खन, सोयाबीन दाल, सोया दूध, आदि का सेवन भरपूर करने के साथ अपने आहार में हरी सब्जियों और फलों को भी नियमित रूप से शामिल करना चाहिए ऐसा करने से आपको इस समस्या से बचने में मदद मिलती है, साथ ही आपको ड्राई फ्रूट्स आदि का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।