जानिए पुरुषों की ये 5 आदतें जिनसे प्रजनन क्षमता को कम हो रही है, आज ही छोड़ें

212

पुरुषों की ऐसी बहुत सी आदतें हैं जिसके कारण इनकी प्रजनन क्षमता कम होती जा रही है आजकल की आधुनिक जीवन शैली और खराब खानपान की वजह से भी इनकी प्रजनन क्षमता पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है इन गलत आदतों की वजह से ना सिर्फ पुरुषों की सेहत पर प्रभाव पड़ता है बल्कि इनके शुक्राणुओं की गुणवत्ता भी खराब होने लगती है।

जिसके कारण कम उम्र में ही इनकी प्रजनन क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ने लगता है इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि अपनी जीवनशैली में की गई गलतियों को सुधार किया जाए, जाने-अनजाने में पुरुष ऐसी बहुत सी गलतियां कर बैठते हैं जिसका बुरा परिणाम भुगतना पड़ता है।

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से पुरुषों की ऐसी पांच आदतों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिसकी वजह से इनकी प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है।

लैपटॉप का प्रयोग

दुनिया डिजिटलीकरण की तरफ तेजी से बढ़ रही है। आजकल लगभग हर व्यक्ति मोबाइल और लैपटॉप जैसे डिवाइस का इस्तेमाल करता है। मगर क्या आपको पता है कि ये डिवाइसेज आपकी प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं।

जी हां, अगर आप लैपटॉप गोद में रखकर काम करने के आदी हैं या गोद में लैपटॉप रखकर लंबे समय तक मूवी-वीडियोज देखते हैं, तो सावधान हो जाएं क्योंकि इससे आपकी प्रजनन क्षमता कमजोर हो सकती है। दरअसल लैपटॉप को गोद में रखने से अंडकोषों के तापमान में वृद्धि होती है, जिससे लंबे समय में आपके शुक्राणुओं की गुणवत्ता खराब हो सकती है।

देर रात तक जागना

6-7 घंटे की अच्‍छी नींद हम सभी के लिए जरूरी है। अगर आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो इससे कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं।

अपर्याप्‍त नींद आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर बनाती है, जिससे आप विभिन्‍न संक्रमण और रोग होने के संपर्क में ज्‍यादा रहते हैं। इसके अलावा ये आपकी प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करती है इसलिए रोज के सोने का एक समय निर्धारित करें और नींद पूरी करें।

सिगरेट और शराब की आदत

सिगरेट और शराब का सेवन आपको कई गंभीर और जानलेवा बीमारियां दे सकता है, ये आप जानते हैं। मगर आपको बता दें कि सिगरेट और शराब आपके हार्मोन्स को भी प्रभावित करते हैं, जिससे पुरुषों में नपुंसकता का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसलिए इन आदतों से दूर रहना बहुत जरूरी है।

टेंशन और डिप्रेशन

नौकरी और पढ़ाई की टेंशन, सबसे आगे रहने की होड़ और कई कारणों से आजकल ढेर सारे लोग स्ट्रेस और डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं। मानसिक तनाव और अवसाद का आपकी प्रजनन क्षमता पर भी असर पड़ता है और इससे आपके शुक्राणुओं की गुणवत्ता घटती है।

इसलिए स्ट्रेस को अपने से दूर ही रखें। इसके लिए योगासन, प्राणायाम, मेडिटेशन, व्यायाम आदि का सहारा ले सकते हैं साथ ही दोस्तों और साथी से बातचीत भी स्ट्रेस दूर करने का अच्छा तरीका है।

गर्म पानी से नहाना

गर्म पानी से नहाना आपकी सेहत को कई तरह से प्रभावित करता है। गर्म पानी आपकी त्वचा को डिहाइड्रेट करता है, जिससे जल्दी झुर्रियां होने का खतरा होता है। इसके अलावा ये आपके पाचन को भी खराब करता है। मगर क्या आप जानते हैं कि गर्म पानी से नहाने से आपकी प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है।

दरअसल पूरे शरीर के मुकाबले अंडकोषों के तापमान को कम रहना चाहिए, इसीलिए इन्हें शरीर से बाहर लटके रहते हैं। मगर गर्म पानी में नहाने से पूरे शरीर के साथ-साथ इनका तापमान भी बढ़ जाता है, जिससे शुक्राणु प्रभावित होते हैं। सर्दियों में थोड़ा सा गर्म पानी मिलाकर पानी का तापमान सामान्य कर सकते हैं मगर इसे 25-26 डिग्री सेल्सियस (रूम टेम्प्रेचर) से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।