जानिए लहसुन के उपयोग का सही तरीका और किनती मात्रा में लेना चाहिए व इसके स्वास्थ्य लाभ

317

लहसुन (Garlic) को जब आप खाने में प्रयोग करते हैं तो यह जादुई रूप से काम करता है। यह खाने को स्वाद और सुगंध से भर देता है।  क्या आप जानते हैं कि लहसुन हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक है? लहसुन आपके स्वास्थ्य के लिए कमाल कर सकता है। यह आपकी त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है।

लहसुन का इस्तेमाल आमतौर पर रोजाना हमारे घरों में किया जाता है। लहसुन खाने में इस्तेमाल करने से खाने का स्वाद और बढ़ जाता है। लहसुन का प्रयोग कर दाल व सब्ज़ी में तड़का लगाने से ना केवल स्वाद में वृद्धि होती है बल्कि सेहत के दृष्टिकोण से भी यह बहुत फायदेमंद हैं। दुनिया में लगभग हर संस्कृति में लहसुन के औषधीय गुणों का उपयोग करते है।

लहसुन क्या है?

लहसुन विटामिन ए, बी-कॉम्प्लेक्स और सी का एक उत्कृष्ट स्रोत है। यह मैंगनीज, फास्फोरस, कैल्शियम, तांबे, पोटेशियम, आयरन और तांबे जैसे खनिजो का भी स्रोत है। आयुर्वेद में लहसुन के काफी फायदे बताए गए हैं। कोई लहसुन का प्रयोग कच्‍चा करता है तो कोई इसे सब्‍जी या चटनी में लेता है। लेकिन कम ही लेाग जानते हैं कि लहसुन का सेवन भूनकर भी किया जाता है और खासतौर पर पुरुषों के लिए इस तरह लहसुन खाना बेहद फायदेमंद होता है।

लहसुन एक कन्दयुक्त जड़ी बूटी और सब्जी है जिसका वैज्ञानिक नाम अल्लीयम स्टीवं है। यह स्वाद में तेज और तीखी गंध लिए होता है। लहसुन का लगभग 5000 साल पहले भारत और मिस्र सभ्यताओं ने उल्लेख किया था।  इसकी उपज मध्य एशिया से शुरू होकर लोगों के द्वारा पूरे विश्व मे फैल गयी। आज विश्वभर में 10 मिलियन मीट्रिक टन लहसुन उगाया जाता है जिसका 66% भाग सिर्फ चीन में होता है।

लहसुन को लेने का तरीका

पकाकर, उबालकर या तलकर लहसुन के सारे गुण खत्म हो जाते हैं इसको लेने का सबसे अच्छा तरीका है इसको कच्चा ही लिया जाए। जब आप सुबह उठें तो एक लहसुन की कली को पानी के साथ निगल लें।

खुराक: कितना लहसुन खाना चाहिए

  • 2 से 5 ग्राम तक ताज़ा कच्चा लहसुन
  • 4 से 2 ग्राम सूखा लहसुन का पाउडर
  • 2 से 5 मिलीग्राम लहसुन का तेल
  • 300 से 1000 मिलीग्राम लहसुन का सत्त (ठोस रूप में)

लहसुन के फायदे

  • एलिसिन और सल्फर से भरपूर
  • जिंक और कैल्शियम का भंडार
  • विटामिन ई और सी युक्त
  • सेलेनियम जैसे खनिज भी हैं
  • खून को पतला करने वाला
  • कोलेस्ट्रॉल शून्य के बराबर

उच्च रक्तचाप का एकमात्र कारण सल्फर की कमी होना है। लहसुन में सक्रिय सल्फर यौगिक होता है जो रक्तचाप को स्थिर रखता है।

  1. कोलेस्ट्रॉल को कम करे

अमेरिकन वैज्ञानिकों के अध्ययन से पता चलता है कि पुराने लहसुन का सत्त एल डी एल कोलेस्ट्रॉल को 10% तक कम कर देता है। नियमित लहसुन के सेवन से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहता है।

  1. हृदय सम्बंधित बीमारियों से बचाव

अनेक तथ्यों से यह निश्चित हो गया है कि लहसुन लगभग हृदय सम्बधी सभी बीमारियों से बचाव करता है। लहसुन से खराब कोलेस्ट्रॉल, लिपिड और एन्टी ऑक्सीडेंट गतिविधियों का बढ़ना कम हो जाता है। ये सब आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए सही है।

  1. हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार

लहसुन आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य को सुधरने में भी आपकी सहायता कर सकता है। इसको गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस के लिए बहुत प्रभावी पाया गया है। लहसुन में मौजूद एक यौगिक उन एंजाइमों को दबा देता है जो हड्डियों को नुकसान पहुंचाते हैं। लहसुन में पाया जाने वाला  कैल्शियम भी हड्डियों के लिए अच्छा होता है।

  1. पाचन समस्याओं में आराम

आंतों की वजह से होने वाली पाचन समस्याएं अधिकतर दर्दयुक्त होती हैं। लहसुन इन पाचन समस्याओं को सुधारकर आराम दिलाता है। इसका एन्टी बैक्टीरियल गुण आंतों के खतरनाक बैक्टीरिया का खत्म कर देता है।

  1. ब्लड शुगर पर नियंत्रण

कच्चा लहसुन हाई ब्लड शुगर से ग्रसित लोगों की ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। कुवैत के वैज्ञानिकों ने पाया कि कच्चा लहसुन आश्चर्यजनक रूप से ब्लड शुगर के स्तर को कम करता है। यह खासकर मधुमेह रोगियों के लिए सहायक है।

  1. कैंसर से लड़ने में मदद

चीन के वैज्ञानिकों का कहना है कि लहसुन 33% तक ट्यूमर बनने की स्थिति को कम कर देता है। उन्होंने ये भी पाया कि लहसुन से 52% पेट के कैंसर से को कम किया जा सकता है।

  1. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाना

लहसुन के एन्टी ऑक्सीडेंट गुण प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते है। लहसुन के सेवन से आपके शरीर मे ऑक्सीडेटिव दबाव कम हो जाता है जोकि आपको बीमार पड़ने से बचाता है।

  1. भारी धातु के जहरीलेपन से बचाव

भारी धातुएं आपके शरीर को बहुत नुकसान पहुंचाती हैं यहां तक कि मौत का कारण भी हो सकती हैं। लहसुन का प्रयोग आपके शरीर मे से धातुओं के स्तर को कम कर देता है।

  1. यीस्ट संक्रमण से बचाव

वैज्ञानिकों का कहना है कि ताज़ा लहसुन यीस्ट इन्फेक्शन को ठीक करने की एक प्राकृतिक दवाई है। लहसुन का सत्त तो कैंडिडा वेजीनाइटिस नाम के संक्रमण के लिए बहुत ही प्रभावी है।

  1. सर्दी से बचाव

लहसुन के सेवन से छाती के जमाव और सर्दी से राहत मिलती है।

  1. वजन कम करे

लहसुन न केवल आपमे शरीर के बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है बल्कि वजन कम करने में भी सहायता देता है।

  1. आंखों के लिए अच्छा

लहसुन के एन्टी माइक्रोबियल गुण आपकी आंखों को नुकसान करने वाले माइक्रोब्स से बचाव करते हैं। यह इन्त्रऑक्युलर प्रेशर को कम कर देते हैं और आपकी आंखों को स्वस्थ रखते हैं।

  1. मुह के छालों और मुह की अन्य बीमारियों के लिए

लहसुन में मौजूद एलिसिन नामक यौगिक आपके शरीर को अनगिनत लाभ देता है। इसमें बहुत से एन्टी माइक्रोबियल गुण होते हैं जो मुह के रोगों से लड़ने में काम आते हैं। लहसुन के सत्त को माउथवाश की तरह प्रयोग करने से मुँह के स्वास्थ्य में सुधार आता है।

  1. मुहांसों से बचाव

लहसुन में एन्टी इंफ्लेमेटरी और एन्टी माइक्रोबियल गुण होते हैं। यह एक शक्तिशाली एन्टी ऑक्सीडेंट है। इसके यही गुणों की वजह से यह मुहांसों को कम करता है।

  1. समय से पहले उम्र बढ़ने के लक्षणों को रोके

लहसुन में झुर्रियों को कम करने और बुढापा विरोधी अनेक गुण होते हैं। लहसुन में पाए जाने वाले एन्टी ऑक्सीडेंट्स और एन्टी इंफ्लेमेटरी यौगिक ऑक्सीजन रेडिकल्स को खत्म कर देता है जिसकी वजह से तनाव कम होता है लहसुन त्वचा की अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से भी रक्षा करता है।

  1. पैरों की दाद का इलाज

पैरों की दाद और अन्य फंगल इन्फेक्शन भी लहसुन से ठीक किये जा सकते हैं। लहसुन का एन्टी फंगल एजेंट पैरों में दाद को ठीक करने के काम आता है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।