जानिए इस फल के हैरान कर देने वाले फायदे ,ये मोटापे और कैंसर जैसे रोगों को भी रोकता है

194

आडू एक ऐसा फल है जिसके सेवन से दृष्टि, त्वचा, तंत्रिका तंत्र, दांत और हड्डियां स्वस्थ्य रहती है, इसलिए आज हम जानेंगे आडू खाने के फायदे । इसे एंटी एजिंग फल माना जाता है जो न केवल विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालता है बल्कि पाचन में सुधार लाता है। इसमें आवश्यक पोषक तत्वों के अलावा इसे एंटीऑक्सिडेंट्स का स्रोत माना जाता है जो गर्भावस्था के दौरान बहुत ही काम आता है।

आडू काफी हद तक सेब जैसा दिखता है लेकिन इसका बाहरी पीला रंग और इसके अन्दर के कठोर बीज इसे सेब से बिल्कुल अलग कर देते हैं। आड़ू में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मिनरल्स और फाइबर प्रचुर मात्रा में होते हैं जो शरीर को लाभ पहुंचाते हैं।

जब इंसान की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं तब वह तरह—तरह के रोगों से ग्रसित हो जाता है। एैसे में यदि आप एक एैसे फल का सेवन करते हो तो इससे ना सिर्फ आपकी हड्डियां मजबूत होगीं साथ ही आप कई रोगों से भी बच सकते हो। इस फल को खाने से आपको कई फायदे मिलेगें। आडू हमारे दांत, त्वचा व तंत्र आदि को रोगों से मुक्त बनाता है।

आडू के एक गर्मियों का फल है जो ज्यादातर चीन और दक्षिण एशिया के क्षेत्रों में पैदा किया जाता है। आपको बता दें आडू प्लम और चेरी प्रजाति का फल है। आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में…

हड्डियों को बनाए मजबूत

मनुष्य़ के शरीर के अंदर हड्डियां एक ऐसी चीज है जो बचपन से लेकर किशोरावस्था तक बनती हैं, बढ़ती हैं और विकसित होती हैं। इन्हीं हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए नियमित रूप से आडू का सेवन कीजिए। यह न केवल हड्डियों के लिए फायदेमंद है बल्कि दातों को मजबूत बनाने में भी इसका योगदान रहता है। इसका सेवन महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस से भी बचाता है। यह गठिया रोग से भी बचाव करता है।

एंटी-ऑक्सीडेंट का स्रोत कैंसर से बचाता है

एंटी-ऑक्सीडेंट हृदय रोगों, ब्लड प्रेशर, अल्जाइमर और दृष्टिहीनता के खतरे को कम करते हैं। आड़ू में भी एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कैंसर से तो बचाते ही हैं वहीं कुछ अध्ययनों में यह बात पता चली है कि ये कीमोथेरेपी के साइड इफ़ेक्ट से बचने की क्षमता को भी बढ़ाते हैं।

इम्यून सिस्टम को बढ़ाने करे काम

आडू खाने के फायदे की बात करें तो आड़ू में इम्यून सिस्टम को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं जो शरीर की छोटी-मोटी बीमारी को दूर करने में सहायक है। इसमें विटामिन सी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह काम करता है।

पेट की समस्या में गुणकारी

नियमित रूप से आडू का सेवन करने से आपकी पाचन शक्ति बेहतर रहती है। यह पेट की समस्याएं जैसे कब्ज, बवासीर, पेट में अल्सर और जठरांत्र आदि को रोकने में सहायक है।

वजन को नियंत्रण करने में सहायक

आडू में बहुत ही कम कैलोरी पाई जाती है। इसलिए अगर आप इसे नाश्ते में खाते हैं तो लंच टाइम तक आपको और कुछ खाने की जरूरत नहीं होती। इस तरह यह वजन को कंट्रोल करने में सहायक है।

आडू खाने का सही समय

पर ध्यान रखें कि इसे दूसरे फलों के साथ मिलाकर न खाएं। भोजन के तुरंत बाद खाने की बजाए इसे आधे घंटे बाद खाएं। जिन्हें एलर्जी और शरीर में सूजन की समस्या हो वे इसे खाने से पहले चिकित्सक सलाह लें।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।