इन बिमारियों के लक्षणों को पहचानें पैरों को देखकर

440

हाथ की हथेली देखकर हमारे भविष्य के बारे में काफी कुछ पता लगाया जा सकता है ये तो आप सब ही जानते होंगे लेकिन शायद ही आप जानते होंगे की सिर्फ हमारी हथेली ही नहीं बल्कि पैर दखकर भी हम व्यक्ति के बारे ने काफी कुछ पता लगा सकते है, आइये जानते है पैरो से जुड़ी कुछ खास बाते.

लगभग सभी को यही लगता है की सेहत का राज हमारे शरीर को देखकर पता चलता है लेकिन शायद ही आप जानते होंगे की सेहत का राज हमारे पैरों से पता चलता है. अगर आपके पैरों में किसी भी तरह कि कोई कमी लगने लगे तो समझ जाइए आप बीमार होने वाले है.

बीमारियों का पता शरीर में मौजूद लक्षणों से बता लगता है। बीमार होने से पहले शरीर के अंगों का आकार व रूप बदलने लगता है। जिससे पता लगता है कि आप किसी बीमारी से परेशान हो सकते हो। हम बात कर रहे हैं पौरों की। पैरों से भी बीमारियों का पता लगाया जा सकता है। इसलिए पैरों में होने वाले हर प्रकार के बदलाव में ध्यान जरूर दें ताकि आने वाले समय में गंभीर रोगों से बचा जा सके।

पैरों पर घाव का ठीक ना होना

पैर पर चोट लगने या फिर किसी अन्य वजह से घाव हो गया हो और वह ठीक होने की बजाय पक रहा हो तो यह भी बीमारी का संकेत है। यानि कि डायबिटीज होने का खतरा। जब शरीर में शुगल लेवल बढ़ जाता है तब पैरों पर बने घाव आसानी से ठीक नहीं हो पाते हैं।

पपड़ीदार और सूखे पैर होना

यदि पैर नीचे से पपड़ीदार और सूखे हो रहें हो और किसी उपचार से ठीक ना हो रहे हों तो यह थाइराइड की समस्या का मुख्य कारण हो सकता है। इसलिए इसे हल्के में ना लें। डाॅक्टर से सलाह लें।

पैर के अंगूठे पर लाल रंग की रेखाएं

पैर के अंगूठे के नाखून में  लाल रंग की रेखाएं दिखना बहुत ही खतरनाक  होता है। एैसे लक्षण मुख्य तौर पर हार्ट की बीमारी, कैंसरए डायबिटीज और  एचआईवी के रोगियों में पाए जाते हैं। दिल पर संक्रमण होना भी इसी लक्षण से पता चलता है। जब आपको ऐसा लगे कि पैर के अंगूठे के नाखून पर लाल रंग की धारियां दिख रहीं है तो बिना देर किए अपने को डाॅक्टर को दिखाएं।

पैर के अंगूठे में दर्द बने रहना

कई बार खाने की गलत आदतों की वजह से शरीर में कैमिकल्स की मात्रा अधिक हो जाती है। जिस वजह से पैर के अंगूठे में दर्द होने लगता है। जो लोग मछली शराब और लाल मीट का सेवन अधिक करते हैं उनके शरीर में मौजूद प्युरीन की मात्रा ज्यादा हो जाती है जो पैर कि अंगूठे के दर्द से पता चल पाता है। इसके लिए आप अपने को जरूर किसी चिकित्सक से विचार करें। वह आपको इसका अपचार बता देगा।

पैर कीअंगुलियों का आगे से मोटा और चेोडा होना यानि क्लबिंग

मेडिकल भाषा में क्लबिंग शब्द का इस्तेमाल किया जाता है जिसका अर्थ है पैरों की उंगलियों को पीछे से और आगे से चेोडा और मोटा होना। इस तरह के लक्षण का दिखने का अर्थ है फेफड़ों की बीमारी,  फेफड़े का कैंसर, आंत की बीमारी, हार्ट की बीमारी हो सकती है। पैर के एैसे लक्षण दिखाई देने पर आप तुरंत डाक्टर के पास जाकर अपना चेकअप कराएं। ताकि समय पर इलाज हो सके।

इंसान के शरीर में परिर्वतनों का होना एक गंभीर बीमारी की ओर इशारा करता है। इसलिए आपको अपने शरीर को समय समय पर देखते रहना चाहिए। ताकि किसी भी तरह का लक्षण दिखे उसे तुरंत चिकित्सक को दिखा लें। एैसा करने से आप गंभीर बीमारियों से आसानी से बच सकते हो।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352