इन शारीरिक समस्याओं को न करे नज़रंदाज़, नहीं तो हो सकता है भारी नुक्सान, जानिये

1583

आजकल के बढ़ते प्रदूषण और भागदौड़ भरी जिंदगी में किस पल हमारे साथ क्या हो जाए किसी को नहीं पता, इसका कारण ये है,, कि इंसान ने अपना जीवन इतना व्यस्त कर लिया है, कि वो इतना भी नहीं देख रहा है कि हम अपने पर्यावरण के साथ साथ अपना भी नुक्सान कर रहे है यानी शरीर बिमारियों का घर बनता जा जा रहा है. कई बार ऐसा होता है कि बिस्‍तर से उठने पर हमें तेज बुखार या फिर शरीर के किसी हिस्‍से में तेज दर्द जैसी समस्‍या सताने लगती है. आमतौर पर हम इस समस्‍या को नजरअंदाज कर देते हैं. लेकिन, इस प्रकार की समस्‍या अगर नियमित रूप से आपको सताने लगे, तो समझ लीजिये कि ये बड़ी समस्या है.

जीवनशैली ने हमें ऐशो-आराम के तमाम सामानों के साथ बीमारियां भी दी हैं. इसके लिए कई शारीरिक समस्‍यायें आए दिन हमें परेशान करती रहती हैं. हालांकि, कई तकलीफ अस्‍थायी होती हैं, जो कुछ समय बाद अपने आप ही ठीक हो जाती हैं. इस तरह के लक्षणों को हम आमतौर पर नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन यह ठीक नहीं. हो सकता है कि ये लक्षण आपको आज मामूली लग रहे हों, लेकिन ये किसी खतरनाक बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं.

अगर अचानक कोई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍या आपको सताने लगे, तो इसे गंभीरता से लेते हुए अपने चिकित्‍सक से संपर्क करें. आपको इस तरह की समस्‍या थकान होने पर भी हो सकती है. इस लेख के जरिए हम आपको बता रहे हैं ऐसी शारीरिक समस्‍याओं के बारे में जिन्‍हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

सीने में दर्द :-

कई बार लोग अचानक सीने में होने वाले दर्द को स्वाइस्य्है  समस्या  न मानकर नरजअंदाज कर देते हैं. यदि दर्द के कारण आप सही से काम नहीं कर पाते, दबाव महसूस करते हैं या आपको बैठने में समस्या  होती है तो यह हार्ट अटैक का कारण भी बन सकता है. सीने में दर्द होने पर मितली आने, उल्टीै होने और छोटी सांस आने की समस्या् भी हो सकती है. काम के दौरान सीने में दर्द की परेशानी ऐन्जाउइना के कारण हो सकती है. इसमें हृदय की नसों को पर्याप्तभ मात्रा में रक्ता नहीं मिल पाता.

तेजी से वजन घटना :-

शरीर का तेजी से वजन घटना अच्छा  नहीं. यदि आप वजन घटाने की कोशिश नहीं करते और आपका 5 फीसदी वजन अचानक कम हो जाता है तो यह कैंसर हो सकता है. उम्रदराज व्यकक्तियों में अचानक वजन कम होने के 36 फीसदी मामलों की पुष्टि कैंसर के रूप में हुई है. इस तरह की परेशानी होने पर चिकित्सअक से संपर्क करना चाहिए. यदि वजन कम होने के साथ ही आपको ज्या दा प्याीस, भूख, थकान और ज्यासदा मूत्र आने की भी समस्या  है तो यह डायबिटीज का संकेत हो सकता है.

अचानक सिर दर्द होना :-

ऑफिस में काम करने के दौरान, सुबह उठने के बाद या किसी और समय अचानक सिर दर्द होता है तो यह सामान्‍य कारण नहीं है. अमूमन देखा जाता है कि इस तरह का दर्द सिर के किसी एक हिस्‍से में अचानक और कुछ सेकेंड या मिनटों के लिए होता है. कुछ समय बाद दर्द बिना उपचार के ही ठीक हो जाता है, ठीक होने पर हम इस पर ध्‍यान नहीं देते. ऐसा होने पर चिकित्‍सक से परामर्श करें. यह दर्द माइग्रेन का भी हो सकता है और आंखों में तकलीफ का भी. बिना डॉक्‍टरी जांच इसकी असल वजह का पता लगाना मुश्किल है.

तेज बुखार या लगातार बुखार रहना :-

किसी को लंबे समय से बुखार है या 103 डिग्री फॉरहनहाइट या इससे अधिक बुखार है तो यह खतरनाक हो सकता है. ऐसा होने पर रोगी को मूत्राशय संबंधी संक्रमण, निमोनिया और मस्तिष्‍क ज्‍वर आदि की समस्‍या हो सकती है. लंबे समय तक बुखार रहने पर एंटीबॉयोटिक का सेवन किया जाता है. लगातार कई हफ्तों तक हल्‍का बुखार रहना किसी बड़ी बीमारी का कारण अथवा इशारा हो सकता है. इस प्रकार की समस्‍या को अनदेखा न करें और उचित उपचार कराएं.

छोटी सांस आना :-

अचानक छोटी सांस आना फेफड़ों संबंधी समस्‍या हो सकती है. यदि आपको सीढ़ी चढ़ने पर सांस लेने में परेशानी होती है या आप खुद को थका हुआ महसूस करते हैं तो इसे मामूली न मानें. यह दिल की धड़कन अनियमित होने का इशारा हो सकती है. यह हार्ट फेल होने या फिर अन्‍य प्रकार की हृदय संबंधी बीमारियों का कारण बन सकती है. इसके अलावा ऐसा अस्‍थमा के कारण भी हो सकता है.

टांगों में सूजन :-

तरल पदार्थों का संचयन होने पर टांगों में सूजन की समस्‍या होती है. चिकित्‍सक इसे हार्ट फेल होने का लक्षण भी मानते हैं. जितनी मात्रा में शरीर को खून की जरूरत होती है, जब हृदय उस मात्रा में खून का संचार नहीं कर पाता और रक्‍त नसों में वापस जाने लगता है परिणामस्‍वरूप टांगों में सूजन आ जाती है. टांगों में लंबे समय तक सूजन रहने पर चिकित्‍सक से संपर्क करना जरूरी हो जाता है.

देखे विडियो :-