क्या आपने भी खाये कभी काले चावल,नहीं तो जरुर खाएँ और जानिये इसके फायदे

313

खान-पान में बदलाव और बदलती लाइफस्‍टाइल के कारण आज के समय में हमारे शरीर को कई तरह के पोषक तत्‍व नहीं मिल पाते हैं जिससे हमारा शरीर लगातार कमजोर होता रहता है। और जब शरीर में कई तत्वों की कमी होने लगती है तो कई बीमारियां अटैक कर देतीं हैं और हम 40 साल में ही कमजोर और बूढ़ी दिखने लगती हैं। लेकिन परेशान ना हो क्‍योंकि कुछ चीजें ऐसी हैं जिनकी मदद से आप लंबे समय तक एनर्जी से भरपूर रह सकती हैं लेकिन इनके बारे में हम नहीं जानती हैं और इनके गुणों से अनजान है|

आपने आज तक ब्राउन और सफेद चावलों के बारे में खुब सुना होगा। इसी के साथ ही आप इन चावलों के सेवन के बारे में भी जानते होंगे। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे चावल के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि इन चावलों से ज्यादा फायदेमंद होता है। यह चावल है काला चावल।जी हां आज हम आपको काले चावल के बारे में बताने जा रहे हैं जो इतने शक्तिशाली हैं कि अगर आपने इसे महीने में सिर्फ 4 बार भी कुछ महीनों तक रेगुलर खा लिया तो आपके पास कमजोरी 70 साल तक नहीं आ पायेगी। इसमें इतने ज्यादा इनके पोषक तत्व और मिनरल पाये जाते हैं कि ये आप पर किसी भी बीमारी का प्रभाव नहीं पड़ने देते हैं। आइए जानें ये आपकी हेल्‍थ के लिए कैसे फायदेमंद हो सकता है।

काले चावलों से मिलने वाले फायदे

एंटीऑक्सीडेंट

फेद चावलों की बजाय काले चावलों को खाने का एक और बहाना ब्लैक राइस में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स तत्व हैं। इन चावलों की चोकर या भूसी एंथोसाइनिन, का सबसे बेहतरीन स्रोत है। जो अपने एंटी ऑक्सिडेंट तत्वों के लिए जाना जाता है। आंखों की रोशनी को बढ़ाने के अलावा आपके दिमाग के लिए भी काले चावल बहुत ज्यादा लाभकारी होते हैं। काले चावलों में पाया जाने वाला विशेष गुण आपकी त्वचा को भी मुलायम और खुबसूरत बनाता है।

इंसुलिन रेज़िस्टेंस कम करता है

ऐसे लोग जिन्हें डायबिटीज़ है वे अपनी डायट में ब्लैक राइस शामिल कर सकते हैं। काले चावलों में एंथोसाइनिन (Anthocyanin) नामक एक फ्लेवनॉइड मौजूद होता है जो सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद है। यह इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाने में मदद करता है।

हृदय के लिए

अगर आप चाहते हैं की आप दिल की बीमारियों से दूर रहें तो इसके लिए आप काले चावल जरूर खाएं। क्योंकि काले चावल आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कभी बढ़ने नहीं देते हैं। और आपके बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर देते हैं। यही नहीं हार्ट स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारी भी आपको नहीं होगी।

कैंसर से लड़नेवाले तत्व-

विभिन्न स्टडीज़ में ऐसा पाया गया है ब्लैक राइस में मौजूद एंथोसाइनिन, ब्रेस्ट कैंसर सेल्स से लड़ने में सकारात्मक तरीके से प्रभावी है। इसका अर्थ है कि काले चावल में कैंसर से लड़नेवाले तत्व भी होते हैं।

पाचन के लिए

पाचन की समस्या यदि आपको रहती हो। तो आप जरूर सप्ताह में दो दिन काले चावल खाएं। इससे आपकी पाचन शक्ति मजबूत होगी। साथ ही कब्ज, गैस और पेट फूलने की समस्या भी आपको नहीं होगी। इन चावलों में फाइबर होता है जिससे हमारे पेट को हर तरह की मदद मिलती है।

धमनियों को सख्त होने से रोकता है

जिन लोगों को धूम्रपान की आदत है या वे हाई ब्लड प्रेशर या कोलेस्ट्रॉल जैसी किसी बीमारी से पीड़ित हैं, तो उन्हें रक्तधमनियों में धमनीकलाकाठिन्य या आर्थरोक्लरोसिस (atherosclerosis) या प्लैक बनने की समस्या हो सकती है। इससे शरीर के विभिन्न हिस्सों में रक्त के बहाव में रुकावट आती है, और इस तरह हार्ट अटैक या स्ट्रोक हो सकता है। स्टडीज़ में भी ऐसा पाया गया है कि रोज़ान ब्लैक राइस खाने से धमनियों में प्लैक बनने की प्रक्रिया कमज़ोर हुई है।

रोगों से दूर

कई गंभीर बीमारियों के अलावा कैंसर से भी काले चावल आपको बचा सकते हैं। क्योंकि ये चावल एंटीऑक्सीडेंट युक्त होते हैं जिससे हृदय घात और कैंसर नहीं होता है। बीमारियों से बचाव काले चावल में मौजूद तत्व हमें डायबिटीज और अल्जाइमर जैसी बीमारियों से भी निजात दिलाता है। काले चावल में मौजूद एंथोसाइनिन हार्ट से जुड़ी बीमारियों  से छुटकारा दिलाता है  इसके अलावा इसमें एंथोसाइनिन नामक नीले कलर का पिगमेंट पाया जाता है जो ब्‍लड सर्कुलेशन को ठीक करता है। अगर आप काले चावल को हफ्ते में 4 दिन भी खाएंगी तो लंबे समय तक एनर्जी से भरपूर रहती हैं।

कमजोरी दूर करें

अगर आपको कमजोरी महसूस हो रही हैं तो आप इस चावल का सेवन कर सकती हैं। कुछ ही दिनों में आपकी कमजोरी ख़त्म हो जायेगी और यह आपको ताकतवर बना देंगा।

काला चावल का सेवन एशिया महाद्वीप में अधिक किया जाता है। पुराने समय में इन चावलों की खेती सिर्फ राजाओं के लिए होती थी। लेकिन आजकल इसका सेवन करने के लिए आपको राजा महाराजा बनने की जरूरत नहीं है। यह चावल आपको आसानी से बाजार में मिल सकते है। यह चावल दूसरे चावलों के मुकाबले अधिक फायदेमंद होते है। काले चावल स्वाद में भी दूसरे चावलों के मुकाबले ज्यादा टेस्टी होते है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें ।

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/khabarna/public_html/suchkhu.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352