जानिए आलूबुखारा के आयुर्वेदिक गुण व इसके स्वास्थ लाभ

2028

आलूबुखारा सबसे कलरफुल और स्‍वादिष्‍ट फल होता है। इसे ताजा या सुखाकर खाया जाता है। आलूबुखारा के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होते है। सूखे आलूबुखारा को प्रॉन्‍स के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। इनमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व होते है और विटामिन सी, के, ए और ढ़ेर सारा फाइबर भी होता है। आलूबुखारा में एंटी – ऑक्‍सीडेंट भी होता है, इसमें सुपरऑक्‍साइड अनियन रेडीकल होता है जिसे ऑक्‍सीजन रेडीकल के नाम से जाना जाता है, इसकी सहायता से शरीर से वसा घटाने में मदद मिलती है।

पूरी दुनिया में आलूबुखारा की 2000 से ज्‍यादा किस्‍में पैदा की जाती है। इसके सेवन से हाई ब्‍लड़ प्रेशर, स्‍ट्रोक रिस्‍क आदि कम हो जाता है, शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है। इसके सेवन से पुरूषों का शरीर मजबूत होता है।

आलूबुखारा विटामिन ए, के, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर का बहुत अच्छा स्त्रोत है। इसका सेवन दिल, पेट और आंखों आदि के लिए बहुत फायदेमंद होती है। इससे जुड़ें स्‍वास्‍थ्‍य लाभों इस प्रकार है।

आलूबुखारा

खाने में स्‍वादिष्‍ट आलूबुखारा काफी स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होता है। इसके सेवन से हाई ब्‍लड़ प्रेशर, स्‍ट्रोक आदि का खतरा कम हो जाता है और शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है। आलूबुखारे में कई तरह के विटामिन और मिनरल पाएं जाने के कारण यह हमारे शरीर के आवश्‍यक विटामिन और मिनरल की पूर्ति करता है। आइए आलूबुखारा के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानें।

पोषक तत्‍वों से भरपूर

आलूबुखारा में कार्बोहाइड्रेट की अधिक तथा कैलोरी और फैट की मात्रा बहुत कम होती है। इसमें कई तरह के पोषक तत्‍व, मिनरल और विटामिन पाये जाते है। आलूबुखारा विटामिन ए, के, सी  कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर का बहुत अच्छा स्त्रोत है।

एंटीऑक्‍सीडेंट

आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर की रोग प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ता है और शरीर को कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है। इस फल में नियासिन, राइबोफ्लेविन और थायमिन जैसे तत्‍व भी पाये जाते हैं। इसके सेवन से शरीर के विषैले तत्‍व बाहर निकल जाते हैं।

पाचन क्रिया को दुरूस्‍त बनाएं

आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। इससे पेट संबंधी समस्‍याएं कम होती है और पाचन क्रिया दुरूस्‍त रहती है। इसमें मौजूद फाइबर के कारण आलूबुखारे के सेवन से पेट में भारीपन नहीं होता है और आंतों को भी आराम मिलता है।

इम्‍यूनिटी बढाएं

आलूबुखारे में मौजूद विटामिन सी इम्‍यूनिटी को बढ़ाता है और शरीर को स्‍वस्‍थ रखता है। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन के अनुसार, आलूबुखारा के सेवन से शरीर में मिनरल ज्‍यादा मात्रा में शोषित होने के कारण शरीर एनर्जी ज्‍यादा मिलती है।

कैंसर को रोकें

अध्ययनों से पता चला है की आलूबुखारा एक एंटी-कैंसर एजेंट हैं जो कैंसर और ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। आलूबुखारा में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट और कई अन्‍य तरह के पोषक तत्‍व शरीर में कैंसर कोशिकाओं को एक्टिव नहीं से रोकते हैं। इसके सेवन से फेफड़ों और मुंह का कैंसर नहीं होता है।

कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करें

आलूबुखारा में घुलनशील फाइबर होते है। इसके सेवन से शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल नियंत्रित रहता है। इसके सेवन से आंत दुरूस्‍त रहती है। आलूबुखारा शरीर में बाईल की मात्रा को बढ़ाता है, जिससे मोटापा कम होने के साथ ही कोलेस्‍ट्रॉल को भी कम करने में मदद करता है।

आंखों के लिए लाभकारी

आलूबुखारा में विटामिन ए और बीटा कैरोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है। विटामिन ‘ए’ आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इ‍सलिए इसका सेवन आंखों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से आंखें तेज होती है और हानिकारक यूवी किरणों से भी बच जाती है।

वजन नियंत्रित करें

आलूबुखारा में फैट की मात्रा कम होने के कारण इसके सेवन से फैट नहीं बढ़ता है और शरीर का वजन नियंत्रित रहता है। वजन कम करने वाले लोगों के लिए यह बहुत फायदेमंद होता है। आलूबुखारे के सेवन ज्‍यादा भूख लगने की समस्‍या से भी बचा जा सकता है।

दिल को सुरक्षित रखें

आलूबुखारा में मौजूद विटामिन ‘के’ दिल दुरुस्त रखता है। इसके सेवन से रक्त में थक्‍के नहीं जमते, ब्‍लड प्रेशर ठीक रहता है। आलूबुखारा में पौटेशियम भरपूर मात्रा में होता है जिससे हार्ट अटैक आदि पड़ने का खतरा समाप्‍त हो जाता है। इसके अलावा इसमें भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 की मौजूदगी दिल को स्‍वस्‍थ बनाती है।

नियंत्रित करें

आलूबुखारा में फैट की मात्रा कम होने के कारण इसके सेवन से फैट नहीं बढ़ता है और शरीर का वजन नियंत्रित रहता है। वजन कम करने वाले लोगों के लिए यह बहुत फायदेमंद होता है। आलूबुखारे के सेवन ज्‍यादा भूख लगने की समस्‍या से भी बचा जा सकता है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।