विज्ञान के हिसाब से जानिये आपको टॉयलेट पर कैसे बैठना चाहिए?

910

आज के समय हमारे देश के अधिकतर लोग विदेशी सभ्यता को अपनाते जा रहे हैं. कुछ मामलों में तो ये लोगो को ठीक लगती हैं लेकिन कई मामलों में ये हमारे सहूलियत के हिसाब से नही होती है या हमारे लिए नुकसानदायक होती है.

हम ऐसा भी करते हैं कि कुछ चीजों को जिस तरीके से उपयोग करना चाहिए वैसा ना करके हम अपनी सहूलियत के हिसाब करते हैं जो हमारे लिए खतरनाक साबित हो सकता है आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि हमें टॉयलेट सीट पर कैसे बैठना चाहिए.

आज टॉयलेट करने का तरीका भी बदलता जा रहा है जी हाँ क्योंकि आज अधिकतर लोग वेस्टर्न टॉयलेट का प्रयोग करने लगे है आपने खुद देखा होगा कि पहले के समय में वेस्टर्न टॉयलेट का प्रयोग केवल ऑफिसों में ही देखने को मिलता था पर अब लोग घरों में भी इसका प्रयोग करने लगे हैं.

इसका बुरा प्रभाव यह है कि इस तरह के टॉयलेट इस्तेमाल करने से पेट साफ ना रहने की, बवासीर की, कब्ज की, यहाँ तक कि दिल के दौरे जैसी शिकायत भी ज्यादा रहती है.

इसे भी पढ़े : इन जड़ी-बूटियों के प्रयोग से आपका दिमाग कंप्यूटर से भी तेज चलेगा, जानिये कैसे

पेट साफ़ न होनें के पीछे की अहम वजह यह है कि लोगों को यह नहीं मालूम कि टॉयलेट में बैठने का सही तरीका क्या होता है ? क्योंकि अधिकतर लोग टॉयलेट में गलत तरीके से बैठते है जो कि आपके स्वास्थ के लिए बहुत ही हानिकारक है इसी वजह से आज हम आपको वेस्टर्न टॉयलेट में बैठने की सही पोजीशन के बारे में आपको बताने जा रहे हैं.

अगर आप वेस्टर्न स्टाइल का टॉयलेट इस्तेमाल करते हैं तो कहीं ना कहीं पेट साफ ना रहने की शिकायत आपके बैठने के तरीके से जुड़ी है. इसलिए आपको टॉयलेट में बैठने के सही तरीके की जानकारी होनी चाहिए. टॉयलेट सीट पर सही तरीके से बैठकर आप पेट संबंधी सभी समस्‍याओं से बच सकते है.

इसे भी पढ़े : जानिए बदन में दर्द होने के 10 कारण और इसके घरेलू उपचार

जानिये टॉयलेट सीट पर बैठने का सही तरीका :-

-हम में से ज्‍यादातर लोग टॉयलेट सीट पर नब्‍बे डिग्री के एंगल में बैठते हैं. आप भी कुछ इसी तरीके से वेस्‍टर्न टॉयलेट में बैठते होगें. लेकिन क्‍या आप जानते है कि टॉयलेट में बैठने का यह सबसे गलत तरीका होता है.

-इस तरीके से बैठने से मलाशय कहीं ना कहीं परेशानी आने लगती है. क्‍योंकि आंतें उस प्रवाह में काम नहीं कर पाती जिस तरीके से करना चाहिए. देखा जाए तो इंडियन स्टाइल में बैठने के तरीके को ही सही माना जाता है.

-इंडियन टॉयलेट के स्‍टाइल में बैठने से कब्ज, गैस, पेट-दर्द, कोलोन कैंसर आदि होने की संभावनाएं काफी कम हो जाती है. इंडियन स्टाइल से टॉयलेट सीट में बैठने से हमारा कूल्हा 35 डिग्री तक झुक जाता है और मलाशय का रास्ता इस अवस्‍था में बेहतर तरीके से काम करता है.

-इसलिए अगर आप वेस्टर्न टॉयलेट का ही इस्‍तेमाल करते हैं, तो आसान तरीके से खुद को स्‍वस्‍थ रख सकते हैं. बस आपको करना इतना है कि वेस्टर्न टॉयलेट में बैठने के बाद अपने पैरों को एक छोटे स्टूल के ऊपर रख लें. ऐसे में आप खुद को पीछे की तरफ धकेलेंगे और आपकी पोजिशन खुद-ब-खुद ही इंडियन स्टाइल हो जाएगी.

इसे भी पढ़े : जानिये आयुर्वेद की इन चुनिंदा जड़ी-बूटियों में छिपा है हर बीमारी का इलाज

-इस तरीके से वेस्‍टर्न टॉयलेट सीट पर बैठने से आपको पेट संबंधी कोई समस्‍या नहीं होगी आप फिट रहेंगे और गलत तरीके से टॉयलेट इस्तेमाल करना भी बंद कर देंगे.

अधिक जानकारी के लिए देखे विडियो :-

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Facebook पर शेयर करें

ऐसी ही और बातों के लिए like करें हमारे पेज Such Khu को।

और ऐसे ही अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और गुरूप ज्वाइन करें।

जुडें हमारे फेसबुक ग्रुप से क्लिक करें आयुर्वेदिक देशी नुस्खे।